Patrika Hindi News

RSS किसी के खिलाफ नहीं, केवल हिन्दुओं को कर रहा मजबूतः भागवत

Updated: IST RSS chief Bhagwat
संघ किसी के खिलाफ काम नहीं कर रहा है, बल्कि हिन्दू समुदाय की एकता, मजबूती और इसके सशक्तीकरण के लिये प्रयासरत है।

कोलकाता। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने शनिवार को कहा कि संघ किसी का विरोधी नहीं है वह केवल हिन्दुओं की एकता का पक्षधर है। भागवत ने यहां ब्रिगेड परेड मैदान पर संघ के एक कार्यक्रम में कहा कि संघ किसी के खिलाफ काम नहीं कर रहा है, बल्कि हिन्दू समुदाय की एकता, मजबूती और इसके सशक्तीकरण के लिये प्रयासरत है।

संघ हिंदुओं के लिए करता रहेगा काम
भागवत ने देश के हिंदुओं से संगठित रहने का भी आह्वान किया। उन्होंने कहा, 'मकर संक्रांति के इस पावन अवसर पर मैं कहना चाहता हूं कि हम किसी के खिलाफ नहीं है और केवल हिन्दू समुदाय के सशक्तीकरण के उद्देश्य से हिन्दुओं की एकता के लिये काम कर रहे हैं।'

भागवत ने कहा कि हिंदुओं का भविष्य केवल यहीं पर है, इसलिये हिंदुओं को आपस में मधुर संबंध बनाये रखना चाहिये। उन्होंने कहा कि संघ लगातार हिंदुओं के उत्थान के लिये कार्य करता रहेगा और किसी अन्य धर्म के साथ इसकी कोई विरोध नहीं है।

हाईकोर्ट से फटकार के बाद मिली रैली की इजाजत
संघ प्रमुख का यह बयान ऐसे समय आया है जब पश्चिम बंगाल सरकार ने नोटबंदी के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। उल्लेखनीय है कि संघ की रैली को लेकर छिड़े विवादों के बीच कलकत्ता उच्च न्यायालय ने रैली के आयोजन को शनिवार को मंजूरी दे दी थी। न्यायालय ने अपने आदेश में कहा था कि रैली का आयोजन दोपहर बाद दो बजे से शाम छह बजे तक होना चाहिये तथा रैली स्थल पर केवल आमंत्रितों को ही प्रवेश की अनुमति होगी और गैर आमंत्रितों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा और मौके पर पुलिस बल तैनात रहेगा।

पुलिस आयुक्त को कारण बताओ नोटिस
न्यायालय ने अपने निर्णय से संघ को अवगत नहीं कराये जाने के संदर्भ में शहर पुलिस आयुक्त राजीव कुमार को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है और दो सप्ताह के भीतर अपना जवाब पेश करने का आदेश भी दिया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???