Patrika Hindi News

हर दिन 'पत्थर' में तब्दील होती जा रही है यह 23 वर्षीय लड़की, दुर्लभ बीमारी से है पीड़ित

Updated: IST The woman who
शाब्दिक रूप से कहें तो तो इस दर्दनाक बीमारी के कारण इंसान के शरीर की मांसपेशियों, रंध्र और स्नायुबंधन बेहद सख्त हो जाती हैं और इसके प्रभाव से इन्ससान के शरीर के ऊतक शरीर में दूसरा कंकाल बना देते हैं...

अमेरिका: एक 23 वर्षीय महिला एक दुर्लभ बीमारी के कारण के 'पत्थर' में बदल रही है। यह बीमारी इस महिला की मांसपेशियों को हड्डी के रूप में तब्दील कर रही है। अमेरिका के कनेक्टिकट में रहने वाली इस महिला का नाम है जेजमिन फ्लॉइड, इन्हें फिबरोडिस्प्लासिया ओसिफिकन्स प्रोग्रेसिविया(Fibrodysplasia Ossificans Progressiva) नाम की एक एक बेहद असामान्य बीमारी है। इस बीमारी के दुनियाभर में अब तक सिर्फ 800 मामले ही सामने आये हैं।

शाब्दिक रूप से कहें तो तो इस दर्दनाक बीमारी के कारण इंसान के शरीर की मांसपेशियों, रंध्र और स्नायुबंधन बेहद सख्त हो जाती हैं और इसके प्रभाव से इन्ससान के शरीर के ऊतक शरीर में दूसरा कंकाल बना देते हैं।

Rigid: The painful disease causes her muscles, tendons and ligaments to become calcified, effectively creating a 'second skeleton' of rigid tissue

डॉक्टरों के मुताबिक, इस बीमारी में इंसान की हड्डियों के जोड़ के ऊपर भी हड्डियां उग जाती हैं। इसके कारण जोड़ जाम हो जाते हैं और इंसान का चलना या कोई और काम कर पाना मुमकिन नहीं हो पाता।

अंग्रेजी वेबसाइट डेलीमेल में छपी खबर के मुताबिक जेजमिन का कहना है कि जब वो पांच साल की थी तब एक सुबह उठने के बाद उन्होंने अपने माता-पिता से गर्दन में दर्द की शिकायत की लेकिन उनके माता-पिता को लगा कि सोते समय गर्दन टेढ़ी हो गई होगी और शायद इसीलिए दर्द हो रहा होगा।

Immobile: Gradually, the condition will cause Miss Floyd to be permanently wheelchair-bound

लेकिन कुछ सालों के बाद उन्हें पता चला कि उनका दर्द सामान्य नहीं था क्योंकि स्कूल की पढाई ख़त्म होने के समय के बाद जेजमिन की गर्दन बड़ी अजीब सी मुद्रा में एक ओर को झुक गई थी। कई तरह की जांच करवाने के बाद आखिरकार जनवरी 1999 में जेजमिन के माता-पिता को अपनी उस समय की गलती का एहसास हुआ कि उन्होंने बचपन में अपनी बच्ची की शिकायत नजरअंदाज करना गलत था, अगर उस वक्त उनका इलाज़ कराया गया होता तो शायद आज उनकी यह हालत नहीं होती।

Young patient: Doctors first diagnosed her with the disorder aged five after she complained of agonising pains in her neck

समय बीतने के साथ ही उनकी हालत अब और बदतर हो गई है अब उन्हें व्हीलचेयर का सहारा लेना पड़ता है। उनकी रीढ़ की हड्डियों के ऊपर भी हड्डियां बन गई हैं। कुल मिलाकर जेजिमन की हालत दिनोंदिन और भी ज्यादा तकलीफदेह और मुश्किल होती जा रही है, लेकिन इसके बावजूद उनकी हिम्मत नहीं टूटी है।

Still smiling! The brave woman is now planning to travel across the world while she still can

इससे पहले कि इस बीमारी के कारण वह पूरी तरह जड़ हो जाएं, जेजमिन कई जगहों पर घूमना चाहती हैं और नई जगहें देखना चाहती हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???