Patrika Hindi News
UP Scam

Video Icon VIDEO: 2007 लखनऊ बम ब्लास्ट मामले में 2 साल से फरार था ये शख्स, अब चढ़ा पुलिस के हत्थे

Updated: IST lucknow blast accused
साल 2015 से फरार यह शख्स पुलिस और कोर्ट की आंख में धूल झोक रहा था

बिजनौर। पुलिस द्वारा शनिवार को बढ़ापुर थाना क्षेत्र से कोर्ट द्वारा समन भेजने के बावजूद भी कोर्ट में पेश न होने पर एक शख्स को गिरफ्तार किया है। साल 2015 से फरार यह शख्स पुलिस और कोर्ट की आंख में धूल झोक रहा था। कोर्ट के समन भेजने के बाद भी कोर्ट में हाजिर नहीं हो रहा था। ये शख्स 2007 में हुए लखनऊ में आतंकी घटनाओं में शामिल रहा है। कई साल जेल में रहने के बाद साल 2015 में जेल से रिहा हुआ था। लेकिन हाईकोर्ट ने इस मामले में दोबारा फरार इस आरोपी को कोर्ट में पेश होने के लिए कई बार समन भेजे लेकिन ये आरोपी कोर्ट में आज तक पेश नहीं हुआ था। अब पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है।

देखें वीडियो...

पुलिस की गिरफ्त में बैठा ये शख्स है बिजनौर जिले के बढ़ापुर थाना इलाके का नौशाद उर्फ नफीज उर्फ साबिर है। उधर इस मामले में बिजनौर एसपी अजय कुमार साहनी ने बताया की नौशाद का नाम साल 2007 में सुर्खियों में आया था। जब साइकिल के ऊपर रखे थैले में लखनऊ में बम विस्फोट हुआ था। जिसमें कुछ लोगों की मौत हो गयी थी। इस मामले में साल 2007 में ही लखनऊ वजीरगंज थाना में नौशाद के खिलाफ देशद्रोह और आर्म्स एक्ट की संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था।

नौशाद के पास से पुलिस को उस समय एक विदेशी पिस्टल, कारतूस और 5 किलो आरडीएक्स व डेटोनेटर बरामद हुआ था। नौशाद को साल 2007 में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। तभी से नौशाद का केस लखनऊ में चल रहा था। साल 2015 में लोअर कोर्ट ने नौशाद को बेगुनाह मानकर रिहा कर दिया था। लेकिन, इस मामले में हाईकोर्ट ने दोबारा संज्ञान लिया और नौशाद को कोर्ट में पेश होने के लिए बिजनौर पुलिस को कई समन जारी हुआ था।

वहीं पुलिस के मुताबिक नौशाद पिछले 2 साल से फरार चल रहा था। इस मामले में लखनऊ की कोर्ट ने बिजनौर पुलिस को लताड़ भी लगाई फिर आगामी 16 तारीख को नौशाद को कोर्ट में पेश करने को कहा गया। उधर जब इस मामले में आरोपी नौशाद से पूछा गया तो उसका कहना है कि मैं पिछले साल जेल से रिहा हो गया था। मुझे इस दौरान कोई भी नोटिस या समन नहीं मिला है। अब मुझे पुलिस ने बुलाया है, मैं बेगुनाह हूं। मुझे आतंकी बनाकर फंसाया गया था।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???