Patrika Hindi News

> > > > Two policemen hostage beaten by SP MLA Ram Khiladi Yadav

Video Icon देखिये, सपा विधायक की दबंगई सिपाहियों को घर में बंधक बनाकर धुना

Updated: IST Samajwadi party
एमएलए के घर अपह्रत युवक को छुड़ाने और अपहरणकर्ता को गिरफ्तार करने गए थे पुलिसकर्मी

संभल. गुन्नौर से सपा विधायक रामखिलाड़ी यादव द्वारा अपहरणकर्ता को शरण देने और सिपाहियों को बंधक बनाकर मारपीट करने का मामला सामने आया है। सिपाहियों का आरोप है कि वे विधायक के यहां अपहरणकर्ता को पकड़ने गए थे, लेकिन सपा विधायक के लोगों ने उनको बंधक बनाकर मारपीट करते हुए उनकी वर्दी फाड़ दी। वहीं इस मामले में सपा विधायक राम खिलाड़ी यादव ने सभी आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा है कि मेरी ही पार्टी के कुछ नेता मेरे खिलाफ साजिश कर रहे हैं।

दरअसल लोहापुरा गांव निवासी सतीश कुमार ने वासुदेव से 30 हज़ार रुपये उसकी शादी करवाने के नाम पर लिए थे। कई माह बीत जाने के बाद भी सतीश ने उसके पैसे नहीं लौटाए तो वासुदेव ने चार दिन पहले सतीश को उसी के गांव से उठा लिया और एक निजी स्थान पर रखा और पैसे लौटाने के लिए उसके घर वालों से संपर्क किया। जब बात नहीं बनी तो अपहरणकर्ता वासुदेव सतीश को लेकर सपा के मौजूदा विधायक रामखिलाड़ी यादव के आवास पर पहुंचा। और पैसे वापस करवाने के लिए विधायक के यहां पर बैठक शुरू कर दी। तभी पुलिस को सूचना मिली की अपह्रत सतीश और आरोपी वासुदेव सपा विधायक के यहां पर हैं।

इसकी सूचना मिलते ही सिपाही सतेंद्र यादव और महबूब अली विधायक के घर अपह्रत सतीश को छुड़ाने और आरोपी आरोपी को गिरफ्तार करने पहुंचे, लेकिन इस पर विधायक और उनके समर्थक आग बबूला हो गए। इसके बाद दोनों सिपाहियों की जमकर धुनाई कर बंधक बना लिया। जब यह सूचना सीओ को मिली तो उन्‍होंने दोनों सिपाहियों को विधायक के यहां से छुड़वाया और आरोपी और पीड़ित को भी थाने लेकर पहुंचे। इस घटना में सिपाहियों की वर्दी फट गई और शरीर पर कई गंभीर चोटें भी आई।

देखिये क्‍या बोले विधायक जी-

वहीं इस मामले में सपा विधायक राम खिलाड़ी यादव का कहना है कि मेरे ऊपर लगाए गए आरोप निराधार हैं। मेरी ही पार्टी के कुछ नेता टिकट की चाहत में मेरे खिलाफ साजिश रच रहे हैं। इस घटना से मेरा कोई रिश्ता नहीं है। मेरे यहां उनका फैसला हो रहा था तभी सपा के पूर्व मंत्री राजू यादव का रिश्तेदार सिपाही व उसका साथी मेरे घर में बिना किसी को कुछ बोले अंदर घुस आया और घर में खोजबीन करने लगा। जब हमने इस बारे में उससे पूछा तो हमारे साथ अभद्रता करने लगा। इसी बात से आहत हमारे समर्थकों ने उसको घर से बाहर कर दिया। सपा विधायक का कहना है कि पुलिस जिसको अपहरणकर्ता बता रही है पुलिस ने उसके खिलाफ कोई अपहरण का मामला दर्ज नहीं किया है।

देखिये क्‍या बोला सिपाही-

वहीं पीड़ित सिपाही का कहना है सपा विधायक मेरी हत्या करवा सकता है। मेरी जानमाल का खतरा बना हुआ। हालांकि पीड़ित सिपाही और पीड़ित युवक की तहरीर पर पुलिस ने अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं किया है। सपा के पूर्व मंत्री राजू यादव का कहना है कि पुलिस इस मामले को दबाने में जुटी हुई है। पुलिस खुलकर काम नहीं कर पा रही है पुलिस पर सत्ता का दवाब बना हुआ है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे