Patrika Hindi News

Photo Icon
पुलिस ने पकड़े नौ लाख के पटाखे

Updated: IST morena
अंबाह से दो आरोपी गिरफ्तार, कैलारस से आरोपी फरार

मुरैना. दिवाली के लिए किए गए पटाखों के अवैध भंडारण पर छापामार कार्रवाई कर पुलिस ने अंबाह कस्बे से छह लाख और कैलारस से तीन लाख के पटाखे पकड़े हैं। पत्रिका ने 18 अक्टूबर को पेज नंबर 10 दिवाली के लिए पटाखों का अवैध भंडारण जारी शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इस खबर के माध्यम से यह उल्लेख किया गया था कि पूरे जिले में पटाखों का अवैध भंडारण किया जा रहा है, लेकिन कार्रवाई नहीं की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक ने पटाखों के अवैध भंडारण के खिलाफ विशेष अभियान चलाकर कार्रवाई की है।अंबाह में पटाखों के अवैध भंडारण की सूचना मुखबिर के जरिए स्टेशन रोड के टीआई डीके शर्मा को मिली। उन्होंने पुलिस अधीक्षक को बताया। एसपी ने टीआई को अंबाह में कार्रवाई के लिए भेजा। टीआई ने अंबाह में मौके पर पहुंच कर अंबाह टीआई को खबर की तब वह फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे। अंबाह में जग्गा चौराहे के पास गड्ढा रोड पर श्रीभगवान गुप्ता, सोनू गुप्ता के यहां से पटाखों का अवैध कारोबार पकड़ा है।

पुलिस ने श्रीभगवान के घर से बड़ी लोडिंग गाड़ी और पड़ोस में ही रहने वाले सोनू के यहां से छोटी लोडिंग गाड़ी पटाखों से भरकर जब्त की। जब्त पटाखों की कीमत छह लाख रुपए बताई गई है। कैलारस में अशोक गली में वकील व उसके पुत्र स्माइल अलग-अलग अवैध पटाखों का कारोबार करते हैं। टीआई कैलारस ने बताया कि पिछले तीन-चार दिन से कैलारस में पटाखों का अवैध भंडारण करने की खबर मिल रही थी। इसी के चलते बाप-बेटे के यहां दबिश दी, दोनों के घर से बड़ी मात्रा में बने हुए पटाखे व रॉमटेरियल जब्त किया है। पुलिस को देखकर आरोपी फरार हो गए, लेकिन उनके घर से माल जब्त कर लिया है।


गाड़ी में सब ठीक हो जाएगा

अंबाह में पुलिस जब पटाखा कारोबारी के घर कार्रवाई कर रही थी, तब कुछ पुलिसकर्मी आरोपियों से कह रहे थे कि चल तू बैठ गाड़ी में सब ठीक हो जाएगा। इससे लगता है कि पटाखों का अवैध कारोबार पुलिस की शह पर ही चल रहा था, क्योंकि बीच शहर में बड़े स्तर पर कारोबार चल रहा हो पुलिस को खबर नहीं हो, ऐसा संभव नहीं है।

स्टेशनरी व पंसारी की दुकान के आड़ में करते थे पटाखों का कारोबार

अंबाह में श्रीभगवान गुप्ता की स्टेशनरी की दुकान है और सोनू गुप्ता पंसारी का कारोबार करता है। श्रीभगवान दिनभर पीपल चौराहा स्थित स्टेशनरी की दुकान पर बैठता है और शाम ढलते ही अपने घर गड्ढा रोड पर पहुंच जाता था। यहां भी स्टेशनरी की दुकान है। लोगों को दिखाने के लिए ये कारोबार है, लेकिन घर के अंदर पटाखों का अवैध भंडारण रहता था। अंधेरा होने पर लोगों से पटाखों का सौदा करता और फिर रात में माल की सप्लाई करता था। यही हाल सोनू का था।

तीन साल पहले भी पकड़ा गया था बड़ी मात्रा में भंडारण

अंबाह में श्रीभगवान गुप्ता के घर से तीन साल पूर्व भी पुलिस ने बड़ी मात्रा में पटाखों का अवैध भंडारण पकड़ा था। ये दोनों कारोबारी पिछले डेढ़ दशक से पटाखों का अवैध करोबार कर रहे हैं। पुलिस को सबकुछ पता होने के बाद भी कार्रवाई नहीं की जाती है। इस बार भी कार्रवाई नहीं होती अगर पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में मामला नहीं आता।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???