Patrika Hindi News

Movie Review: टीनेजर्स की फिक्र बढ़ाती 'बेफिक्रे'

Updated: IST befikre
निर्देशक : आदित्य चोपड़ा, स्टारकास्ट : रणवीर सिंह,वाणीकपूर, रेटिंग : 3/5

बैनर : यश राज फिल्म्स
निर्माता : आदित्य चोपड़ा
जोनर : रोमांटिक ड्रामा
संगीतकार : विशाल-शेखर

रोहित के. तिवारी/ मुंबई ब्यूरो। बॉलीवुड की नब्ज और ऑडियंस के टेस्ट का समझने वाले निर्देशक आदित्य चोपड़ा इस बार रोमांटिक ड्रामा लेकर आए हैं। उन्होंने इसमें रोमांस का गजब तड़का लगाया है और रणवीर और वाणी की रियल लाइफ से जुड़े कुछ पहलुओं को भी फिल्म में दिखाने की पूरी कोशिश की है। आदित्य ने रणवीर और वाणी की जोड़ी को लेकर एक हैपी फिल्म बनाने की पूरी कोशिश की है, लेकिन कहानी में एक पेंच है, जो युवा पीढ़ी, खासकर टीनेजर्स की फिक्र बढ़ा सकता है।

कहानी...
करीब 132:47 मिनट की कहानी पेरिस से शुरू होती है। वहां एक फ्रेंच लड़की शायरा (वाणी कपूर) अपने बॉयफ्रेंड धरम (रणवीर सिंह) को छोड़ कर उससे दूर चली जाती है। फिर दिल्ली से आये धरम अपने ब्रेकअप को लेकर देल्ही बेल्ली बार नाम के स्टेज पर अपना और लोगों का मन बहलाने के लिए कॉमेडी करता है और शायरा अपने घर मम्मी-पापा के पास चली जाती है। अब कहानी एक साल पहले जाती है, जहां पता चलता है कि धरम अपने हुनर को दिखाने के लिए अपने दोस्त के साथ पेरिस आता है। फिर अपने कॉमेडी शो के एक दिन पहले वह मौज-मस्ती के लिए पेरिस घूमने निकल पड़ता है, जहां एक पार्टी में वह शायरा से मिलता है और वहीं दोनों का प्यार परवान चढ़ता है। अब कहानी प्रेजेंट में आती है, जहां धरम किसी दूसरी गर्लफ्रेंड के साथ शायरा के डैडी के रेस्टोरेंट आता है। फिर कहानी एक साल पहले जाती है, जहां धरम शायरा के साथ उसके घर में जाता है और शायरा के घर वालों से बोलता है कि वे दोनों पेरिस मरीन ही लिव-इन-रिलेशन में रहने जा रहा है। फिर से दोनों में छोटी-मोटी बातों को लेकर लड़ाई हो जाती है। कहानी फिर प्रेजेंट में जाती है, जहां शायरा धरम को पेरिस पुलिस से रात में ड्रिंक एंड ड्राइव मरीन उसे बचाने आती है और दोनों फिर एक-दूसरे के नजदीक आ जाते हैं। इसी के साथ फिल्म में ट्विस्ट आता है और कहानी बढ़ती है।

अभिनय...
रणवीर सिंह ने अपनी पुरानी फिल्मों की तरह इसमें भी पूरी एनर्जी के साथ काम करने का भरसक प्रयास किया है। उन्होंने फिल्म के किरदार को बखूबी जीने की कोशिश की है, जिसमें वे कई मायनों में सफल होते से नजर आए। इनके अलावा वानी कपूर ने अपनी दूसरी ही फिल्म से साबित कर दिखाया है कि रोल में दम है, तो अभिनय को जीवंत करने के लिए कोई ज्यादा जद्दोजहद नहीं करनी पड़ती। वानी ने फिल्म भर में रणवीर सिंह का पूरा साथ दिया है और दोनों की ऑन स्क्रीन केमेस्ट्री भी लोगों को काफी हद तक भाई है। साथ ही फिल्म से जुड़े हर किरदार ने खुद की मौजूदगी दर्ज कराने में हर संभव प्रयास किया है।

निर्देशन...
आदित्य चोपड़ा ने हमेशा की तरह ही इस बार भी अपने निर्देशन में कुछ अलग कर दिखाने की पूरी कोशिश की है। आदित्य ने एक हैपी फिल्म के बारे में जैसा सोचा था, ठीक वैसा ही उन्होंने अपने निर्देशन में कर दिखाया है। आदित्य ने इस बार नया हथकंडा अपनाने का भरसक प्रयास किया और उन्होंने रोमांटिक ड्रामे को आकर्षित बनाने के लिए कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखी। हालांकि रोमांस का धमाकेदार जबरदस्त तड़का तो उन्होंने जरूर लगाया, लेकिन कहीं-कहीं वे थोड़ा असफल से रहे। उन्होंने निर्देशन में वाकई में कुछ अलग करने की कोशिश की है, जिसकी वजह से वे ऑडियंस की प्रसंशा लूटने में कहीं-कहीं पर थोड़ा सफल रहे। खैर, फिल्म के फस्र्ट हाफ में तो दर्शक खुद को कुर्सी से बांधे दिखाई दिए, पर इंटरवल के बाद ऑडिएंस का मूड हैपी नजर नहीं आया। बहरहाल, ' तुम करोलबाग से तो निकल गए, लेकिन करोलबाग तुमसे कभी नहीं निकलेगा...' और ' तेरा भाई किसी से कम है, तेरा भाई नंबर वन है' जैसे डायलॉग्स तारीफ के लायक रहे, लेकिन यदि टेक्नोलॉजी और कॉमर्शिल लहजे की बात छोड़ दी जाए, तो इस फिल्म की सिनेमेटोग्राफी में कुछ और खास करने की जरूरत की नजर आई। इसके अलावा जरूरत के मुताबिक फिल्म में संगीत (विशाल-शेखर) ने ऑडियंस को आकर्षित करने के लिए अपनी गजब भूमिका निभाई।

क्यों देखें?
रणवीर और वाणी की जोड़ी का रोमांस व एक हैपी फिल्म को देखने की चाहत रखने वाले दर्शकों के लिए यह फिल्म बोर नहीं करेगी, लेकिन कहानी निराश करेगी। हां, इसमें आदित्य चोपड़ा अपनी स्टाइल से कुछ हटकर नजर आ रहे हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???