Patrika Hindi News

इन वित्तीय प्रोडक्ट्स में निवेश से बिना जोखिम मिलेगा बेहतर रिटर्न

Updated: IST Investment
बाजार में निवेश के लिए एक से बढ़कर एक प्रोडक्ट मौजूद है। निवेशक अपने वित्तीय लक्ष्य के अनुसार उनमें से अपने लिए मुफीद प्रोडक्ट का चुनाव करते हुए निवेश करता हैै।

बाजार में निवेश के लिए एक से बढ़कर एक प्रोडक्ट मौजूद है। निवेशक अपने वित्तीय लक्ष्य के अनुसार उनमें से अपने लिए मुफीद प्रोडक्ट का चुनाव करते हुए निवेश करता हैै। निवेश पर मिलने वाला रिटर्न उसके जोखिम यानी रिस्क फैक्टर के अनुरूप होता है। यानी, जो भी प्रोडक्ट अधिक रिटर्न देता है, उसमें निवेश करने पर जोखिम भी उतना अधिक होता हैै। इसीलिए कई बार ज्यादा रिटर्न के लालच में निवेशकों का पैसा भी डूब जाता है। अगर आप वैसे प्रोडक्ट्स में निवेश करना चाहते हैं, जिनमें जोखिम बिल्कुल भी नहीं हो और एक तय रिटर्न आपको जरूर मिले, तो आज हम वैसे ही कुछ प्रोडक्ट्स के बारे में बता रहे हैं। आप इन प्रोडक्ट्स में बिना किसी हिचक के निवेश कर एक तय रिटर्न अपने निवेश पर पा सकते हैं।

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम

अगर आप रेगुलर इनकम के लिए निवेश करना चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम एक अच्छा विकल्प है। अभी इस पर 7.6 फीसदी की दर से ब्याज ऑफर किया जा रहा है। हालांकि, मिलने वाली ब्याज दर की समीक्षा समय-समय पर होती है। इस स्कीम में निवेश करने पर ब्याज हर महीने रिटर्न के तौर पर मिलता है। यानी, आप निवेश कर प्रत्येक महीने ब्याज पा सकते हैं।

रेकरिंग डिपॉजिट

अगर आप निवेश की शुरुआत छोटी रकम से करना चाहते हैं तो रेकरिंग डिपॉजिट (आरडी) बेहतर विकल्प है। आप रेकरिंग खाता पोस्ट ऑफिस या बैंक में खोल सकते हैं। अभी ज्यादातर बैंक इस पर 6 से लेकर 7.5 फीसदी का ब्याज दे रहे हैं। आप पोस्ट ऑफिस में 10 रुपए से लेकर जितनी मर्जी हो, रेकरिंग खाते की शुरुआत कर सकते हैं। अभी पोस्ट ऑफिस में रेकरिंग खाते पर 7.2 फीसदी का ब्याज मिल रहा है। मिलने वाला ब्याज प्रत्येक तीन महीने पर जोड़ा जाता है।

सुकन्या समृद्धि
छोटे निवेश के लिए सुकन्या समृद्धि अकाउंट भी अच्छा विकल्प है। आप अपने 10 वर्ष की बेटी के नाम से यह खाता खोल सकते हैं। इस खाते में जमा रकम पर मौजूदा समय में 8.4 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। सुकन्या समृद्धि खाते 1000 रुपए में खोल सकते हैं। इस खाते में जमा रकम पर आप इनकम टैक्स के सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट भी प्राप्त कर सकते हैं।

कॉर्पोरेट एफडी

बैंक एफडी जैसा ही कॉर्पोरेट एफडी भी रेग्युलर रिटर्न का ऑप्शन देता है। कॉर्पोरेट एफडी पर ब्याज बैंक एफडी से ज्यादा मिलता है। सीनियर सिटीजन को कॉर्पोरेट एफडी पर 0.25 से 0.5 प्रतिशत अधिक ब्याज कंपनियां ऑफर करती हैं। हालांकि, कॉर्पोरेट एफडी में रिस्क होता है। इसलिए निवेश से पहले कंपनी की रेटिंग भी देखनी चाहिए।

पब्लिक प्रॉविडेंट फंड

देश में पब्लिक प्रॉविडेंट फंड एक लोकप्रिय निवेश है। पीपीएफ में निवेश पर सालाना ८ फीसदी की दर से ब्याज मिलता है। आप सिर्फ ५०० रुपए से पीपीएफ में निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। वहीं, इनकम टैक्स के सेक्शन 80सी के तहत 1.5 लाख रुपए सालाना निवेश कर टैक्स छूट ले सकते हैं।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना

यह स्कीम वरिष्ठ नागरिकों के लिए रेग्युलर इनकम का ऑप्शन देती है। इसमें निवेश करने वाले व्यक्ति की उम्र 60 साल से अधिक होनी चाहिए। इस स्कीम में किए हुए निवेश पर ८.४ फीसदी की दर से ब्याज मिलता है। इसमें 1000 से लेकर 15 लाख रुपए तक निवेश किया जा सकता है। निवेश की रकम पर रिटर्न तिमाही दिया जाता है। साथ ही इनकम टैक्स की धारा 80सी के तहत टैक्स छूट भी मिलती है।

न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस)

लंबी अवधि और रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए एनपीएस (न्यू पेंशन स्कीम) एक बेहतर निवेश विकल्प है। इस पर 14 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है, क्योंकि यह मार्केट से जुड़ा होता है। इसमें 500 रुपए प्रति महीने या साल में 6,000 रुपए निवेश कर सकते हैं। निवेशक के पास अपने फंड को इक्विटी, बॉन्ड और गिल्ट में निवेश करने का विकल्प होता है। हाल ही में सरकार ने एनपीएस को आकर्षक बनाने के लिए कई बदलाव किए हैं। जिसमें विड्रॉल पर टैक्स छूट से लेकर लॉक-इन पीरियड को कम करना भी

शामिल है।

म्युचुअल फंड मंथली इनकम प्लान

जोरदार रिटर्न के साथ रेग्युलर रिटर्न के लिए म्युचुअल फंड मंथली इनकम प्लान चुन सकते हैं। म्युचुअल फंड की यह स्कीम निवेशकों को पीरियोडिक पे-आउट्स का ऑप्शन देती है। इस स्कीम में निवेश पर निवेशकों को कम से कम 10 से 12 फीसदी की दर से रिटर्न मिल जाता है। इस स्कीम में निवेश पर बैंक एफडी और पोस्ट ऑफिस स्कीम से ज्यादा रिटर्न मिलता है। हालांकि रिटर्न मार्केट के उतार-चढ़ाव पर भी निर्भर करता है। मार्केट में तेजी रहने पर बेहतर रिटर्न मिल सकता है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???