Patrika Hindi News

> > > > kairana exodus: bjp leader hukum singh says hindus not safe

कैराना प्रकरण: हुकुम सिंह बोले, हिंदुओं की बेटियों संग होता है गैंगरेप

Updated: IST hukum singh
पलायन मामले पर हुकुम सिंह ने कहा कि अब तक रिपोर्ट ने भी साफ कर दिया है कि वहां हिंदू सुरक्षित नहीं हैं

मेरठ। कैराना पलायन मुद्दे पर भाजपा सांसद हुकम सिंह ने सर्किट हाउस में मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने पहले ही इस बात को कहा था कि डर व खौफ के कारण वहां से लोग पलायन कर रहे है किंतु यूपी सरकार ने उनकी बात को झूठा बताते हुए इसे राजनीतिक बात करार दिया था। किंतु जब राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की रिपोर्ट ने इस बात को सही माना तो सभी की बोतली बंद हो गई है।

इस दौरान उन्होंने कहा कि कैराना की तरह सहारनपुर से भी पलायन हो रहा है। आपकों बता दें कि बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने दावा किया था कि कैराना में 250 लोग पलायन कर गए हैं। पलायन के पीछे बढ़ते अपराध और खास वर्ग के लोगों को सत्ता का संरक्षण मिलना कारण बताया गया था।

यह है रिपोर्ट के मुख्य बिन्दु

सांसद हुकम सिंह के अनुसार रिपोर्ट में एक पहलू यह भी है जिसमें माना गया है कि कैराना में कुछ मुस्लिम युवक हिंदुओं की बहू-बेटियों के साथ छेड़छाड़ करते हैं। इन युवकों के डर की वजह से पीड़ित परिवार पुलिस तक शिकायत करने नहीं जाता।

रिपोर्ट में एक कश्यप परिवार की महिला के साथ गैंगरेप और फिर उसकी हत्या किए जाने का मामला भी उठाया गया है। इसमें आयोग ने माना कि स्थानीय पुलिस ने परिजनों की शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं की। इस मामले में दो मुस्लिम युवकों के नाम सामने आए थे, लेकिन पुलिस ने तब कोई कार्रवाई नहीं की। बाद में जब महिला का शव मिला और ग्रामीणों ने हंगामा किया तब पुलिस ने आरोपियों को नामजद कर केस दर्ज किया।

कैराना में दो हिंदु व्यापारियों की हत्या का मामला भी रिपोर्ट में शामिल किया गया है। आयोग ने माना है कि कैराना में डर और दहशत की वजह से हिंदू परिवार वहां से पलायन कर रहे हैं। इस जांच कमेटी ने कैराना के अलावा शामली, पानीपत, मुजफ्फरनगर और अन्य स्थानों पर जाकर अपनी जांच की।

सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता ने दायर की थी याचिका

बताया जाता है कि सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता मोनिका की ओर से आयोग में शिकायत दर्ज करायी गई थी। अधिवक्ता मोनिका का एक एनजीओ भी है, उसी एनजीओ के माध्यम से यह शिकायत की गई थी। जिसके बाद आयोग ने इस मामले में एक जांच कमेटी का गठन किया था। जांच कमेटी में एक डिप्टी एसपी और तीन इंस्पेक्टर शामिल थे।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे