Patrika Hindi News

किसानों को गेहूं का ढेर लगाने नहीं जगह 

Updated: IST Transportation
नवीन कृषि उपज मंडी परिसर में खुले में पड़ा 30 हजार बोरी अनाज , उठाव नहीं होने से धूप में करनी पड़ रही तुलाई

नरसिंहपुर. नवीन कृषि उपज मंडी गोटेगांव मे बनाए गए गेहूं खरीदी केन्द्र पर परिवहन नहीं होने से गेहूं की करीब 30 हजार बोरियां धूप मे रखी हुई हैं। गेहंू की बोरियों का ढेर लगा होने से खरीदी केन्द्र पर गेहूं विक्रय के लिए आने वाले किसानों को तुलाई के लिए गेहूं रखने जगह कम पड़ रही है। ऐसे में किसानों को जहां जगह मिलती है वहीं पर ढेर लगा देते हैं। मजबूरी में हम्मालों को धूप में अनाज की तुलाई करनी पड़ रही है।
सरकारी आंकड़ों के अनुसार सहकारी विपणन संस्था गोटेगांव केन्द्र ने 19 अप्रेल तक जो ऑनलाइन फीडिंग की है, उसके अनुसार 32324 क्विंटल गेहूं की खरीदी हो चुकी है। इसमें से केवल 10434 क्विंटल का परिवहन ही हो सका है। जिन किसानों ने गेहूं की तुलाई करा दी है और अपनी पर्ची को कम्प्यूटर में नहीं चढ़वाया है। ऐसे किसानों का करीब 8000 बोरी गेहूं तुलकर केन्द्र मे रखा हुआ है।

बुधवार को जिला आपूर्ति से लेकर नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारी नवीन मंडी प्रांगण मे मौजूद गेहूं से भरे वाहनों की संख्या देखी थी। उन्होंने शाखा प्रबंधक से कहा कि वह वाहनों की व्यवस्था कर परिवहन करा लें, जो भी राशि इसके परिवहन मे लगेगी वह परिवहन करने वाले ठेकेदार से भुगतान करा दी जाएगी। जिस ठेकेदार ने ठेका लिया है, उसको परिवहन में गति लाने की दिशा में अधिकारी निर्देशित नहीं कर रहे हैं।

परिवहन की गति धीमी होने का खामियाजा ग्रामीण अंचलों में मौजूद खरीदी केन्द्रों को भी उठाना पड़ रहा है। सर्रा, श्रीनगर एवं उमरिया खरीदी केन्द्र पर किसी प्रकार के सेड की व्यवस्था नहीं है यहां पर खेत में गेहूं की तुलाई का कार्य हो रहा है। किसानो के लिए छांव की व्यवस्था की है, लेकिन गेहूं सुरक्षित रखने की व्यवस्था नहीं होने से जहां देखो वहां पर गेहूं के बारदानो के ढेर लगे हुए हैं।
वाहनों की व्यवस्था तो की जा सकती है, लेकिन यहां पर ऐसे मजदूरों की कमी है जो वेयर हाउस मे वाहनों को खाली करके बोरियों की ऊंची छल्ली लगा सकें। इससे अधिकारी के कहने पर भी परिवहन की व्यवस्था नहीं हो पा रही है।
संजय खत्री, प्रबंधक, विपणन संस्था

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???