Patrika Hindi News

देखें नीमच में कैसी गिरी पांच दुकानें

Updated: IST NMH3
बंगला बगीचा क्षेत्र में प्रतिबंध के बावजूद निर्माण कार्य करना लोगों को उस समय भारी पड़ गया, जब नपा व प्रशासनिक अमले ने एक न सुनी ओर हालही में निर्मित की गई पांचों दुकानों को जमीदोज कर दिया।

प्रतिबंध के बावजूद निर्माण करने पर हुई कार्रवाई

रतलाम/नीमच। प्रतिबंध के बावजूद बगीचा नंबर 19 में हुए पांचों दुकान के निर्माण को नगरपालिका अमले ने प्रशासनिक अधिकारियों कर्मचारियों व पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में जमीदोज कर दिया। यह निर्माण बुधवार को ही तोड़ा जाना था, लेकिन नपाध्यक्ष द्वारा रूकवा दिया गया था, लेकिन कलेक्टर के निर्देश पर गुरुवार सुबह फिर अमला पहुंचा ओर इस बार

निर्माण को पूर्ण रूप से तोड़कर ही पीछे हटा

बतादें की बंगला बगीचा क्षेत्र में निर्माण पर प्रतिबंध लगा हुआ है, इसके बावजूद कुछ लोगों द्वारा पक्की दुकानें निर्मित की जा रही थी, दुकानों का कार्य अंतिम दौर में चल रहा था, जिसका बेस पूरा तैयार हो गया था, इस संबंध में सीएम हेल्पलाईन पर शिकायत होने पर बगीचा नंबर 19 में बुधवार को नगरपालिका अमला पहुंचा था, लेकिन जैसे ही निर्माण तोड़ा जाने लगा, नगरपालिका अध्यक्ष ने पहुंचकर नियमानुसार कार्रवाई करने की बात पर कार्रवाई रूकवाई। जिस पर नपा अमले सहित प्रशासनिक अधिकारी भी लोट गए थे, जानकारी के अनुसार यह सारा वृत्तांत अधिकारियों ने कलेक्टर की जानकारी में दिया, इसके बाद गुरुवार सुबह फिर नपा का अमला पहुंचा ओर इस बार निर्माण कार्य को जमीदोज करके ही लोटा। क्योंकि सीएम हेल्पलाईन पर हुई शिकायत का निराकरण करना ही था।

जानकारी के अनुसार शहर के बंगला, बगीचा क्षेत्र में प्रतिबंध के बावजूद बंगला नंबर 19 में पटवा काम्प्लेक्स में अवैध निर्माण होने की शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर हुई थी। शिकायत पर कार्रवाई करने के लिए तहसीलदार गोपाल सोनी, नपा सीएमओ सविता प्रधान गौड़ एवं पूरा अमला गुरुवार सुबह पहुंचा, जहां निर्माणाधीन दुकानें रघुनंदन पाटीदार, दिनेश गोराना, हीरालाल पाटीदार, कालूराम वैद्य, किशोर पाटीदार की बताई जाती है, जिसे जेसीबी की सहायता से तोड़ा गया।

निर्माण तोडऩे में छूटे पसीनें

प्रतिबंध के बावजूद बस स्टैंड छोटी पुलिया के समीप निर्मित की गई दुकानें तोडऩे में नपा अमले को दो जेसीबियां होने के बावजूद काफी मश्क्कत करनी पड़ी, क्योंकि निर्माण कार्य आरसीसी का किया गया था, जो काफी मजबूत नजर आ रहा था, यहीं कारण था कि जेसीबी के पंजे भी जवाब देने लग गए थे, इस कारण बीच बीच में उनकी मरम्मत की जा रही थी।

अभी चल ही रहा था काम

दुकानों का निर्माण कार्य चल ही रहा था, जिसमें छत तो कुछ ही दिन पहले डाली गई थी, क्योंकि जिस समय निर्माण कार्य तोड़ा जा रहा था, तब तक तो छत में लगी सेंटिंग भी पूर्ण रूप से नहीं खुली थी, इस कारण जहां एक ओर नपा का अमला निर्माण कार्य को तोडऩे में जुटा था, वहीं कारीगर अपनी सेंटिंग बचाने में लगा था, ऐसे में बीच बीच में लोगों द्वारा उसे हटाया जा रहा था, ताकि कोई हादसा न हो जाए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???