Patrika Hindi News

परंपरा निभाने में दुल्हे की तलवार ने ले ली बच्चे की जान

Updated: IST neemuch-baalak ki maout
- खेजड़े का पेड़ काटने के दौरान दुल्हे की तलवार लगी बच्चे के पेट में- उपचार के लिए ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ा- दुल्हे के खिलाफ होगा मामला दर्ज

नीमच/रतलाम। विवाह की एक परंपरा निभाने के दौरान दुल्हे ने ज्यों ही तलवार घुमाई तो वह समीप खड़े बच्चे के पेट में धंस गई। बालक को प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।

खेजड़े का पेड़ काटना था दुल्हे को-

ग्रामीण क्षेत्र में कुछ समाजों में विवाह की रस्म के बीच कुछ लोक परंपराएं प्रचलित है। इनमें से एक परंपरा यह है कि प्रतीक स्वरूप खेजड़े के पेड़ की डाली दुल्हे की तलवार से एक ही वार में कटनी चाहिए। इस परंपरा को तोरण प्रथा से भी जोड़ा जाता है। रामपुरा के भोई मोहल्ले में फूलचंद पिता परमानंद भोई (25) का विवाह हो रहा था। गुरूवार रात दुल्हा रस्म के तहत खेजड़े के पेड़ की डाली काटने गया था। परिजन, महिलाएं और बच्चे भी साथ थे। इसे भोई समाज में गांव गवई परंपरा कहा जाता है। गांव के बाहर एक पेड़ के समीप दुल्हा और रिश्तेदार पहुंचे। विधि विधान से पूजा अर्चना की गई। इसके बाद पेड़ की डाली काटने के लिए जैसे ही दुल्हे ने तलवार घुमाई तो वह समीप ही खड़े हेमंत पिता भुवानीशंकर भोई(12) के पेट को चीरती निकल गई। हेमंत नाम का यह बालक दुल्हन के रिश्ते में भाई बताया जाता है। हेमंत की चीखों को सुन रिश्तेदारों में हड़कंप मच गया। शादी की खुशियां अचानक मातम में बदल गई।

नहीं बची जान-

बच्चे को तत्काल रामपुरा के चिकित्सालय ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला चिकित्सालय नीमच रैफर कर दिया गया। देर रात बालक को जिला चिकित्सालय लाया गया लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शुक्रवार सुबह बालक के शव का पीएम कराया गया, शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया है।

घटना गुरूवार रात की है, दुल्हे की तलवार से बालक के पेट में गंभीर चोट लगी जिससे उसकी मृत्यु हो गई। विवेचना की जा रही है। परिजनों के बयानों एवं पीएम रिपोर्ट के बाद दुल्हे के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया जाएगा। घायल बालक को सीधे नीमच रैफर कर दिया गया था। - अमित सारस्वत, थाना प्रभारी रामपुरा

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???