Patrika Hindi News
UP Election 2017

ओखला पक्षी विहार जाने वालों के लिए खुशखबरी

Updated: IST Okhla Bird Sanctuary in noida
अब ये होने जा रहा है बदलाव

नोएडा: नोएडा दिल्ली से सटे ओखला पक्षी विहार में कई अहम बदलाव होने जा रहे हैं। प्रदेश के वन विभाग और नोएडा प्राधिकरण की ओर से किए गए सर्वे की टीम ने इन बदलावों पर अपनी सहमती जता दी है। इसकी पूरी प्लानिंग करने की जिम्मेदारी वन विभाग की होगी। अगर ये बदलाव होते हैं तो देश के सभी पक्षी विहारों में सबसे खूबसूरत पक्षी विहारों में एक होगा। आपको बता दें कि ओखला पक्षी विहार में जाने वालों की अच्छी खासी संख्या है। यहां पर देश से ही नहीं बल्कि विदेशों से भी पक्षी आते हैं। वन विभाग और नोएडा प्राधिकरण चाहता है कि इसे लोगों के लिए और भी बेहतर और सुविधा जनक किया जा सके।

सबसे पहला बदलाव

ओखला पक्षी विहार में सबसे पहला बदलाव मौजूदा दोनों ओर की एंट्री में किया जाना है। प्राप्त जानकारी के अनुसार दोनों ओर की एंट्री को प्राकृतिक तरीके से किया जाएगा। उसका सौंदर्यकरण ऐसा होगा जिससे लोगों को लगे कि वो वाकई में एक पक्षियों के वन में आए हैं। पूरी तरह से नेचुरल तरीके से किया जाएगा। वहां किसी तरह की बनावटी चीजों का इस्तेमाल किसा जाएगा। आपको बता कि मौजूदा समय में ओखला पक्षी विहार का एक रास्ता सेक्टर-14 ए की ओर से है। वहीं दूसरा रास्ता कालिंदी कुंज की ओर से बना हुआ है। इन्हीं दो रास्तों की ओर से अभी पब्लिक अंदर और बाहर जाती है।

सबसे अहम ये होगा बदलाव

ओखला पक्षी विहार के लिए सबसे अहम बदलाव तीसरा रास्ता तैयार करने को लेकर है। जोकि नोएडा और दिल्ली और फरीदाबाद से आने वाले लोगों के लिए भी काफी सहुलियन भरा होगा। जी हां, वन विभाग और नोएडा प्राधिकरण की ओर से सबसे निर्णय ये लिया गया है कि पक्षी विहार का एक रास्ता दलित प्रेरणा स्थल के एंड प्वाइंट से खोला जाएगा। यहीं पर सेक्टर-95 में अंडरग्राउंड पार्किंग भी बनाई जा रही है। इस गेट के बन जाने के बाद लोगों को पार्किंग से जूझना नहीं पड़ेगा। साथ ही फरीदाबाद और साउथ दिल्ली से आनेे वाले लोगों को भी पक्षी विहार आने में काफी सहुलियत होगी। वहीं लोगों को अंदर पैदल चलना पड़ता है। जिस वजह से आने वाले लोगों को काफी थकान भी महसूस होती है। इसलिए सभी गेटों के एंट्री पर बुल कार्ट भी चलाई जाएंगी।

वन विभाग बनाएगा प्लान

ओखला पक्षी विहार में इन सब चीजों की प्लानिंग करने की जिम्मेदारी वन विभाग को सौंपी गई है। वन विभाग और नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों की एक टीम बुधवार को पक्षी विहार का सर्वे करने भी गई थी। इन बदलावों को लेकर दोनों अधिकारियों के बीच एक आम सहमती भी बन चुकी है। अब विभाग को पूरी प्लानिंग की एक रिपोर्ट जल्द से जल्द नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों को सौंपनी है। आपको बता दें मौजूदा समय में प्रदेश में आचार संहिता लगी हुई है। अगर कोई प्लानिंग बनती है तो उस पर काम चुनाव के बाद ही होगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???