Patrika Hindi News

अंग्रेजों के समय में इस रोड पर भारतीयों की थी नो एंट्री, अब कांवड़ि‍यों पर लगा बैन

Updated: IST meerut
आैघड़नाथ मंदिर में पहुंचने के लिए जिस रोड से जाना सबसे आसान हो सकता है, प्रशासन ने उस पर चलने से मना कर रखा है

नोएडा। गुलाम भारत में मेरठ की जिस रोड पर अंग्रेजों ने भारतीयों को चलने से मना कर रखा था, अब आजाद भारत में उसी रोड पर कांवड़ियों को गुजरने से मना कर दिया गया है। और यह सब उसी योगीराज में हो रहा है जिसके बारे में कहा जा रहा है कि उन्होंने कावड़ियों के लिए हर तरह की सुविधाओं को देने के लिए विशेष निर्देश जारी कर रखा है।

यह भी पढ़ें- कांवड़ यात्रा में दिखे देशभक्ति के रंग, देखें तस्‍वीरें

दरअसल, सावन के महीने में मेरठ के आैघड़नाथ मंदिर में कांवड़ियों का बड़ा सैलाब जलाभिषेक के लिए पहुंचता है। माना जाता है कि इस मंदिर में पूजा से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और मनवांछित फल की प्राप्ति होती है, इसीलिए हर किसी की इच्छा सावन में यहां जल चढ़ाने की होती है। लेकिन आैघड़नाथ मंदिर में पहुंचने के लिए जिस माल रोड से जाना सबसे आसान हो सकता है, प्रशासन ने उस पर चलने से कांवड़ियों को मना कर रखा है। हालांकि कैंट के सिविलयंस क्षेत्र की हर सड़क पर कांवड़ियों के लिए कोर्इ मनाही नहीं होगी। हाईवे से आैघड़नाथ मंदिर के लिए सोफिया गर्ल्स स्कूल के बराबर मार्ग से कांवड़िये गुजर सकेंगे।

यह भी पढ़ें- इस मंदिर में रुद्राभिषेक के लिए हर सावन में श्रीलंका से आते हैं रावण के वंशज

माल रोड से नहीं गुजर सकते

कांवड़ियों की भारी संख्या और उससे उत्पन्न होने वाली किसी समस्या से बचने के लिए इस रोड पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। रुड़की-मेरठ हाईवे से माल रोड पर इस बार कट लगाया जाएगा। माल रोड पर यहां से सब-एरिया कैंटीन तक भगत चौक तक का मार्ग कांवड़ियों के लिए प्रतिबंधित रहेगा। यह कैंट की वीआर्इपी रोड है। सब-एरिया कमांडर का आवास, व्हीलर्स क्लब, सीर्इआे का आवास, कर्इ आॅफिसर्स मैस माल रोड पर ही हैं।

रोज लगता है आॅफिसर्स का जमावड़ा

व्हीलर्स क्लब में रोजाना शाम को सैन्य आफिसर्स का जमावड़ा रहता है। यहां शाम को आॅफिसर्स आैर उनके परिवार के लोग यहां आते हैं। मेरठ में इस बार करीब 30 लाख कांवड़ियों के आने की संभावना है, इसलिए माल रोड केे इन दो हिस्सों के लिए तो फिलहाल कांवड़ियों का प्रवेश वर्जित होगा।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???