Patrika Hindi News

पीएम मोदी आैर भाजपा इस तारीख को राष्ट्रपति पद के लिए रचेंगे 'चक्रव्यूह'

Updated: IST bjp
भाजपा का साथ देने के लिए इन राज्यों के मुख्यमंत्री भी होंगे शामिल

नई दिल्ली/नोएडा। इस रविवार यानी 23 अप्रैल को भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों की बैठक दिल्ली में होगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित भाजपा के सभी शीर्ष नेताओं के इस बैठक में शामिल होने की संभावना है. माना जा रहा है कि भाजपा इस बैठक में राष्ट्रपति चुनाव और 2019 के आम चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेगी. यह बैठक ऐसे समय में होने जा रही है जब 26 मई को प्रधानमंत्री मोदी की सरकार तीन साल पूरा करेगी.

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव द्वारा दी गयी जानकारी के मुताबिक यह बैठक शाम 6 बजे भाजपा के दिल्ली स्थित केंद्रीय कार्यालय 11 अशोक रोड में आयोजित होगी. पीएम मोदी और अमित शाह के आलावा इस बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, संगठन महामंत्री रामलाल शामिल होने. इसके आलावा यूपी के बहुचर्चित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामान भाजपा शासित सभी 13 राज्यों के मुख्यमंत्री एवं 5 उप मुख्यमंत्री भी इस बैठक में भाग लेंगे. जानकारी के मुताबिक इसके पहले मुख्यमंत्रियों की बैठक 27 अगस्त, 2016 को हुई थी.

बैठक क्यों महत्त्वपूर्ण

भाजपा के दिग्गज नेताओं की यह बैठक इस अर्थ में बेहद महत्त्वपूर्ण है कि अगले कुछ ही महीनों में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने जा रहे हैं. इसके लिए विपक्षी दल पहले से ही भाजपा को घेरने की रणनीति बना रहे हैं. ममता बनर्जी ने इस हेतु कई शीर्ष नेताओं से मुलाकात की है और जेडीयू नेता नीतीश कुमार सोनिया से मिलकर इस मामले पर विचार विमर्श कर चुके हैं.

इसी के साथ यह भी महत्त्वपूर्ण है कि अगले माह की 26 तारीख को मोदी सरकार अपने तीन साल पूरे करेगी. बहुत सम्भव है कि वह अपना एक रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करने की कोशिश करे. कांग्रेस ने पिछली बार सरकार के दो साल पूरे होने पर सरकार की खामियों का खाका पेश किया था. उम्मीद है कि वह इस मौके को भी भुनाने से नहीं चूकेगीं क्योंकि इसी साल के अंत में गुजरात जैसे अहम राज्य का चुनाव होना है और इसलिए सरकार की कमी सामने लाने का कोई मौका वह हाथ से नहीं जाने देगी. इसलिए माना जा रहा है कि बीजेपी भी कांग्रेस की रणनीति को भोथरा करने की रणनीति पर काम करेगी.

मायावती और समाजवादी पार्टी की 2019 के आम चुनाव के लिए गठबंधन बनाने की बातें चल निकली हैं. बहुत सम्भव है कि सभी विपक्षी पार्टियां कांग्रेस के नेतृत्व में साझे गठबंधन के तले चुनाव लड़ें. जाहिर है कि ऐसी स्थिति में भाजपा के सामने मुश्किलें बढ़ जाएंगी. भाजपा के शीर्ष नेता इस बैठक में इस अहम मुद्दे पर भी विचार कर सकते हैं.

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???