Patrika Hindi News

> > > > noida traffic cell starter master plan for jaam free road

नोएडा में इस तरह मिलेगी जाम से निजात

Updated: IST traffic
नोएडा ट्रैफिक सेल (एनटीसी) ने मास्टर प्लान तैयार करने की कवायद शुरू कर दी है

नोएडा। शहर की सडक़ों पर लग रहे ट्रैफिक जाम को दुरुस्त करने के लिए नोएडा ट्रैफिक सेल (एनटीसी) ने मास्टर प्लान तैयार करने की कवायद शुरू कर दी है। मास्टर प्लान के तहत शहर के उन 23 सड़कों और चौराहों को चिंहित किया जाएगा, जहां ट्रैफिक जाम की समस्या से लोगों को अक्सर परेशान होना पड़ता है। इसमें ट्रैफिक जाम होने के कारण का पता लगाया जाएगा, ताकि इन सड़कों पर लोग जाम फ्री सफर का आनंद ले सकें। इसके लिए नोएडा प्राधिकरण के चेयरमैन ने एक समिति बनाई है। इसके तहत ट्रैफिक का सर्वे कराया जा रहा है। ट्रैफिक का सर्वे भी दो तरीके से कराया जाएगा। पहला टोपोग्राफिकल सर्वे और दूसरा व्हीकल ट्रैफिक काउंट सर्वे, जिससे शहर के जाम लगने वाले चौराहों की हकीकत का पता चल सके। इसके बाद ट्रैफिक का सर्वे कर रिपोर्ट डीएम को सौंपने को कहा गया था।

चल रहा है सर्वे

नोएडा प्राधिकरण के उप मुख्‍य कार्यपालक अधिकारी सौम्य श्रीवास्तव ने बताया कि पहले नोएडा की सडक़ों पर ट्रैफिक जाम होने के कारणों को समझना जरूरी है। इस पर अध्ययन करना शुरू कर दिया गया है, जिन सात स्थानों पर जाम नोएडा में चल रही परियोजनाओं के चलते लग रहा है। उनका सर्वे रिपोर्ट एक सप्ताह और बाकी 16 चौराहों की सर्वे की रिपोर्ट 15 दिन में दी जानी है। डीसीओ ने बताया कि सर्वे की रिपोर्ट आने बाद एसपी ट्रैफिक और जिला प्रशासन के साथ बैठक कर नोएडा को जाम मुक्त बनाया जाएगा।

इन चौराहों पर चल रहा है सर्वे

नोएडा ट्रैफिक सेल की मानें तो नोएडा के निवासियों, काम करने वाले लोगों और यहां आने वाले लोगों को ट्रैफिक जाम मुक्त सड़क देना उनका मुख्‍य उद्देश्य रहेगा। उनकी ओर से इस समस्या का समाधान करने पर ध्यान देना होगा। इसके लिए सिविल इंजीनियरिंग और ट्रैफिक इंफोर्समेंट के तरीके को ध्यान में रखा जाएगा, ताकि नोएडा की सड़कों पर ट्रैफिक पूरी तरह से स्मूद हो सके। जिन चौराहों पर काम चल रहे हैं, उनमें एनआईबी चौराहा सेक्टर-12-22-56 चौराहा, नोएडा का एंट्री प्वाइंट सेक्टर14ए, ओखला बैराज एंट्री प्वाइंट, मॉडल टाउन चौकी, सेक्टर-51-71, 52-72 चौराहा, सिटी सेंटर चौराहा, फिल्म सिटी के पास शाहदरा ड्रेन और बोटेनिकल मैट्रो स्टेशन प्रमुख हैं।

सर्वे में ये होगा काम

सौम्य श्रीवास्तव ने बताया कि प्राधिकरण के इंजीनियर, एनटीसी के अधिकारी और ट्रैफिक पुलिस मिलकर 23 चौराहों और उन सड़कों का अध्ययन करेगी, जहां पर ट्रैफिक जाम की समस्या सबसे अधिक रहती है। वहां पर पीक ऑवर्स में वाहनों की संख्‍या और नॉन पीक ऑवर्स में वाहनों की संख्या देखेंगे। साथ ही सप्ताह के अन्य दिनों की तुलना में उन चौराहों पर छुट्टी के दिन वहां पर कितना ट्रैफिक रहता है, इस बात का भी अध्ययन किया जाएगा। जिससे अधिकारियों को पता चल सके कि ट्रैफिक जाम का मुख्य कारण क्या है? यहां पर इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि किस समय में भारी वाहन सबसे ज्यादा निकलते हैं।

150 मार्शल चौराहों पर तैनात

नोएडा प्राधिकरण के द्वारा शहर के चौराहों का जाम फ्री बनाने के लिए 150 मार्शल ट्रैफिक विभाग को दिए गए हैं, लेकिन इसका भी कुछ खास फायदा होते नहीं दिख रहा है। इसके बाद प्राधिकरण ने शहर के जाम लगने वाले 23 स्थानों का सर्वे कराया जा रहा है, जिससे जाम लगने का हकीकत पता चल सके। प्राधिकरण के डीसीईओ सौम्य श्रीवास्तव ने बताया कि सर्वे करा कर जिला प्रशासन के साथ बैठक की जाएगी। उसके बाद जाम मुक्त बनाने के लिए जो होगा वह बदलाव किया जाएगा।

ये है शहर के सबसे व्यस्त चौराहे
1. एनआईवी चौकी-62
2. लेबर चौक
3. सेक्टर-12,22,56
4. फर्नीचर मार्केट सेक्टर-10
5. सेक्टर-1 गोलचक्कर
6. सेक्टर-144 एंट्री प्वाइंट
7. नयाबांस गांव
8. अट्टा गांव
9. सेक्टर-28 मोटर मार्केट
10. शहदरा ड्रेन ब्रिज
11. बाटेनिकल गार्डेन चौकी
12. छलेरा गांव
13. फेस-2
14. सेक्टर-82
15. भंगेल गांव
16. ओखला ब्रिज
17. छिजारसी एंट्री प्वाइंट
18. मॉडल टाउन सेक्टर-63
19. मोरना
20. सेक्टर-51,71,52,72
21. निठारी
22. सिटी सेंटर
23. गोल्फ कोर्स चौक

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे