Patrika Hindi News
UP Scam

पीएम मोदी का ये फैसला देश को बना देगा आर्थिक महाशक्ति

Updated: IST Narinder modi
जल्द ही नोटबंदी की तरह इस मामले में भी हो सकता है फैसला

सौरभ शर्मा, नोएडा: पिछले तीन हफ्तों से नोटबंदी को लेकर देश के अर्थशास्त्रियों की आलोचना झेल रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक और मुद्दे पर विचार करना शुरू कर दिया है। अगर उस योजना को अमलीजामा पहनाया जाता है जो देश जल्द ही एशिया ही नहीं बल्कि विश्व की आर्थिक महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर हो जाएगा। वैैसे पीएम मोदी के साथ उनके केंद्रीय मंत्रियों और बाकी अधिकारियों की ओर से जनता को संकेत मिलने शुरू हो गए हैं। आइए आपको भी बताते हैं आखिर पीएम मोदी और उनके करीबी मंत्री किस योजना पर काम कर रहे हैं और उस योजना का देश की इकॉनोमी में किस तरह का असर पड़ सकता है।

अब इस रकम पर होगा वार

देश के पीएम डीमोनेटाइजेशन के बाद अपने भाषणों में घरों में रखे गोल्ड पर बात कर चुके हैं। पीएम साफ कर चुके हैं कि देश के लोगों के पास बेहिसाब सोना है। जिसका कोई रिकॉर्ड नहीं है। अब उसे भी रिकॉर्ड में लाया जाएगा। देश के संबंधित विभाग को भी जानकारी नहीं है देश में लोगों के पास कितना सोना वैध और अवैध है। यहां तक की बैंकों के लॉकर्स में सोना है वो भी मौजूदा सोने का 10 फीसदी भी नहीं है। ऐसे में देश की इकॉनोमी को बेहतर करने के लिए घरों में रखे सोने का यूज होना काफी जरूरी है। जिस पर केंद्र सरकार की ओर से काम शुरू हो गया है। ताकि देश की एक चिंता कम हो सके।

आखिर केंद्र की नजर सोने पर क्यों?

जब इस बारे ऑल इंडिया जेम्स एंड ज्वेलरी एसोसिएशन के काउंसिल मेंबर और फाउंडर रवि प्रकाश अग्रवाल से बात हुई तो उन्होंने जानकारी दी कि हर साल देश बाहर के देशों से 900 टन औसतन सोना खरीद रहा है। इसका मतलब ये है कि देश में हर साल 900 टन सोने की खपत हो रही है। ताज्जुब की बात तो ये है कि इनमें सिर्फ 25 फीसदी सोना ही रिसाइकिल होता है। ऐसे में देश को सोना आयात करने में काफी रुपया खर्च करना पड़ता है। जिस कारण से देश की इकॉनोमी में काफी नेगेटिव असर पड़ता है। अगर देश का ये छिपा हुआ सोना बैंकों के पास आ जााएगा तो उन्हें बाहर से सोना खरीदने की जरुरत नहीं पड़ेगी। घर का सोना ही रिसाइकिल होगा। देश की करंसी बाहर नहीं जाएगी। वहीं देश और बैंकों को पता होगा कि देश में कितना सोना है। जिसे अन्य जगहों पर निवेश किया जा सकेगा।

देश के पास रिकॉर्ड में सिर्फ 2 हजार टन सोना

रवि प्रकाश अग्रवाल की मानें तो देश में मौजूदा समय में रिकॉर्डेड 2000 टन सोना है। अगर देश का अनयूज्ड सोना बाहर निकलकर आ जाता है तो देश को आर्थिक महाशक्ति बनने से कोई नहीं रोक सकता है। उन्होंने कहा कि देश में दबा हुआ 50 फीसदी सोना भी बाहर निकलकर आता है तो उससे भी काम हो जाएगा। सरकार के पास गोल्ड के रूप में सोना आएगा उससे देश की आर्थिक महाशक्ति रूप में उभरेगा। वहीं ज्वेलरी मार्केट भी आगे बढ़ेगी। उन्होंने बताया कि इस साल मौजूदा समय में देश ने 700 टन सोना आयात किया है। आने वाले दिनों में और भी बढ़ सकता है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???