Patrika Hindi News
Bhoot desktop

राहुल गांधी ने अध्‍यक्ष बनने की ओर बढ़ाया एक और कदम

Updated: IST rahul gandhi
इसे राहुल की ताजपोशी की ओर एक और बढ़ते कदम के रूप में देखा जा रहा है

नई दिल्ली/नोएडा। राहुल गांधी ने शुक्रवार को कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्षता की। इस बैठक में पार्टी के लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों के सांसद शामिल थे। राहुल की संसदीय दल की अध्यक्षता इस अर्थ में महत्वपूर्ण है कि संसदीय दल की अध्यक्षता कांग्रेस अध्यक्ष ही करता है, इसलिए इसे राहुल की ताजपोशी की ओर एक और बढ़ते कदम के रूप में देखा जा रहा है।

बता दें कि गत दिनों पार्टी मुख्यालय 24 अकबर रोड पर दिल्ली में हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता भी राहुल गांधी ने ही की थी। इस बैठक की अध्यक्षता भी पार्टी अध्यक्ष ही करता है। सोनिया गांधी की लगातार चल रही अस्वस्थता के बीच राहुल को पूर्ण अध्यक्ष पद देने की मांग पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा लगातार की जा रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं ने गांधी परिवार को यह सलाह दी है कि अब समय आ गया है जब राहुल के हाथ में पार्टी की पूरी कमान दे दी जानी चाहिए।

यूपी व पंजाब चुनाव के बाद अध्‍यक्ष बनाने की वकालत

पिछली कार्यसमिति की बैठक में भी यह माना जा रहा था कि राहुल को पूर्ण अध्यक्ष बना दिया जाएगा, लेकिन राहुल को अध्यक्ष बनाने के सही समय को लेकर मतभेद में इस मुद्दे को टाल दिया गया। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, राहुल को अध्यक्ष पद पर बिठाने के सही समय को लेकर पार्टी में अभी भी मतभेद हैंं। कुछ लोग वर्तमान में चल रहे शीतकालीन सत्र के बाद ही राहुल को अध्यक्ष बना देने के पक्ष में हैं। वहीं पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेता यूपी और पंजाब चुनाव के बाद राहुल को अध्यक्ष बनाने की वकालत कर रहे हैं। इन नेताओं का स्पष्ट मानना है कि अगर राहुल को इस समय पूर्ण अध्यक्ष बनाया जाता है तो चुनाव में मिले सम्भावित नकारात्मक परिणाम से राहुल की छवि खराब होगी। इससे राहुल को भविष्य में भाजपा रहित सभी पार्टियों के गठबंधन का नेता बनाने में परेशानी आएगी।

ममता भी पीएम पद की रेस में

यहां यह बात भी ध्यान में रहे कि लोकसभा में भारी सांसद लेकर पहुंची ममता बनर्जी अप्रत्यक्ष रूप से अगले चुनाव में अपनी पीएम पद की दावेदारी ठोंक रही हैं। वे लखनऊ तक में अपनी रैली कर अपना आधार और विपक्षी दल के नेता के रूप में अपनी स्वीकार्यता बढ़ाने की लगातार कोशिश कर रही हैं। जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष नीतीश कुमार की पीएम पद की महत्त्वाकांक्षा किसी से छिपी नहीं है।

इनसे होगी टक्‍कर

ऐसे में यह स्पष्ट है कि विपक्ष के सर्वमान्य नेता के रूप में राहुल की टक्कर नीतीश, ममता बनर्जी, मायावती या मुलायम सिंह जैसे दिग्गजों से होने वाली है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी यह जरूर चाहेगी कि राहुल की अध्यक्ष पद के रूप में ताजपोशी इस तरह से हो कि उनकी विरोधी दल के नेता के रूप में दावेदारी पर सवाल न उठे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???