Patrika Hindi News

कश्मीरियों को धमकी देने वाले पर मुकदमा दर्ज, राजनाथ सिंह ने दिया ये सख्त आदेश

Updated: IST Rajnath singh
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कड़ा रुख अख्तियार किया

नई दिल्ली/नोएडा। कश्मीरी छात्रों को मेरठ छोड़ने की धमकी देने के मामले में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कड़ा रुख अख्तियार किया. उन्होंने कश्मीरी युवकों को देश के किसी भी में सभी नागरिकों के सामान अधिकार सुनिश्चित करते हुए ऐसे किसी भी प्रयास को सख्ती से निबटने के लिए कहा. इसी बीच मेरठ में धमकी देने वाले व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.

मेरठ के एसएसपी जे रवींद्र गौड़ के मुताबिक शहर में लगे ऐसे सभी पोस्टरों को हटा दिया गया है. साथ ही मेरठ के परता पुर थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 153 बी के तहत पोस्टर लगाने वाले व्यक्ति अमित जानी और उसकी संस्था उत्तर प्रदेश नव निर्माण सेना पर मामला दर्ज कर लिया गया है. अमित जानी को अभियुक्त बनाया गया है जो पोस्टर लगवाने के लिए जिम्मेदार माना जा रहा है.

कथित रूप से अमित जानी के समर्थकों ने ये पोस्टर कश्मीर में भारतीय सेना पर कश्मीरी युवकों द्वारा पत्थर मारने के बाद लगवाया. इन पोस्टरों में कहा गया था कि 'कश्मीरियों, उत्तर प्रदेश छोड़ो, वरना... और भारतीय सेना पर पत्थर मारने वाले कश्मीरियों का बहिष्कार करो. इन पोस्टरों को जारी करने वाले के रूप में अमित जानी की फोटो भी इन पोस्टरों पर छपी थी, साथ ही उसका नाम भी लिखा था.

जानकारी के मुताबिक गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सभी राज्यों को इस बात के निर्देश जारी किए हैं कि देश के किसी भी हिस्से में कश्मीरी युवकों के साथ किसी तरह का गलत व्यवहार नहीं होना चाहिए. वे भी हमारे देश के नागरिक हैं और उन्हें भी वहीं सम्मान और सुरक्षा का अधिकार है जो देश के किसी भी अन्य नागरिक को हासिल है.

इस बीच मेरठ प्रशासन ने कश्मीरी छात्रों से मुलाकात कर उन्हें सुरक्षा का पूरा भरोसा दिया है. इसके पहले राजस्थान में भी इस तरह की कुछ घटनाएं सामने आयीं थीं. जहां कश्मीरी छात्रों को धमकी दी गयी थी. लेकिन गृहमंत्री के मुताबिक उन्होंने देश के सभी राज्यों को कश्मीरी युवकों को सुरक्षा देने की एडवाइजरी जारी करने को कहा है.

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???