Patrika Hindi News

बैंक में नो कैश का बोर्ड देख भड़की जनता, बैंक कर्मियों को बनाया बंधक और सीओ को किया घायल

Updated: IST meerut bawal
एंबुलेंस को रोककर ड्राइवर से की मारपीट, सवारियों से भरी बस में आग तक लगाने का किया प्रयास

नोएडा। मेरठ की जैदी सोसायटी स्थित सिंडिकेट बैंक शाखा में बुधवार को कैश न मिलने पर भीड़ बेकाबू हो गई। लोगों ने बैंक का शटर बंद कर सभी बैंककर्मियों को बंधक बना लिया। लोगों ने हंगामा करते हुए हापुड़ रोड पर जाम लगाया। प्रधानमंत्री का पुतला फूंका और नारेबाजी भी की। यहां तक रास्ते से जा रहे लोगों के साथ मारपीट भी की। हंगामा कर रहे लोगों ने एंबुलेंस के अलावा कई वाहनों पर पथराव किया। पथराव में सीओ समेत कई पुलिसकर्मी घायल हुए। नौचंदी और लिसाड़ी गेट थाने में 500 से ज्यादा लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

नौचंदी थानाक्षेत्र की जैदी सोसायटी में सिंडिकेट बैंक की शाखा में बुधवार साढ़े नौ बजे कैश न होने के कारण कर्मचारियों ने बाहर नो कैश का बोर्ड लगा दिया। कैश लेने लोगों ने हंगामा करते हुए बैंक का शटर गिराकर बैंककर्मियों को बंधक बना लिया। आक्रोशित भीड़ ने हापुड़ रोड पर कमेला चौकी के पास जाम लगा दिया। मौके पर खड़े पुलिसकर्मी तमाशा देखते रहे। सूचना पर पहुंचे इंस्पेक्टर नौचंदी से महिलाएं भिड़ गईं। भीड़ ने नौचंदी थाने के एक दारोगा से झड़प करते हुए डीएम को बुलाने की मांग की। एसपी सिटी अलोक प्रियदर्शी, सीओ सिविल लाइन डॉ. अरविंद कुमार और सीओ कोतवाली रणविजय सिंह कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। एसपी सिटी के समझाने पर लोग शांत हो गए।

पथराव में सीओ घायल

जहां एक ओर पुलिस सोच रही थी कि मामला पूरी तरह से शांत हो गया है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। एसपी सिटी के जाने के 20 मिनट बाद भीड़ ने फिर से जाम लगा दिया। इस दौरान गली में खड़े लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पथराव में सीओ सिविल लाइन हाथ में पत्थर लगने से घायल हो गए। उन्होंने और सीओ कोतवाली रणविजय सिंह फोर्स के साथ लाठी लेकर दौड़े तो भीड़ भाग खड़ी हुई। करीब तीन घंटे बाद मामला शांत हुआ।

वाहनों में तोड़फोड़ और लोगों को पीटा

सिंडिकेट बैंक के बाहर गुस्साई भीड़ ने मेरठ-बुलंदशहर की प्राइवेट बस के शीशे तोड़ दिए और आग तक लगाने का प्रयास किया। इन लोगों ने गाड़ियों को रोककर उनमें तोड़फोड़ की। एक एंबुलेंस की नीली बत्ती तोड़कर उसके ड्राइवर से भी मारपीट की। करीब 60 सवारियों से भरी बस में आग तक लगाने का प्रयास किया। पुलिस ने बस के पास आगजनी की कोशिश कर रहे लोगों को लाठियां मारकर पकड़ने का प्रयास किया तो उन्होंने शोर मचाकर महिलाओं को आगे कर दिया। बवालियों ने कैदियों से भरी एक वैन में भी तोड़फोड़ का प्रयास किया।

क्या कहते हैं अधिकारी

घटना के बाद एसपी सिटी आलोक प्रियदर्शी ने कहा कि वाहनों में तोड़फोड़ करते हुए बेकसूर लोगों से मारपीट की गई है। पुलिस पर पथराव किया गया। कानून हाथ में लेने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। नौचंदी और लिसाड़ी गेट थाने में पांच सौ से ज्यादा लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जा रही है। एसएसपी जे. रविंदर गौड ने कहा कि अराजकतत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। असामाजिक तत्व गलतफहमी न पालें, वे चाहे जो हों, जेल जाएंगे। बैंक मैनेजर दिलशाद अहमद बताया कि बैंक में कई दिन से कैश नहीं था। इस वजह से कर्मचारियों ने बाहर नो कैश का बोर्ड लगा दिया। इस पर भीड़ ने बाहर से शटर बंद कर सभी बैंककर्मियों को बंद कर दिया। कर्मी आधा घंटे से ज्यादा बैंक में भीतर बंधक रहे।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???