Patrika Hindi News
UP Scam

वेस्ट के इन दिग्‍गज नेताओं को मिली लखनऊ और इलाहाबाद की जिम्मेदारी

Updated: IST West UP politician
सभी दलों के हाईकमान ने दिग्‍गज प्रत्याशियों को बाकी चरणों के प्रचार के लिए किया रवाना

मेरठ। पहले और दूसरे चरण के मतदान के बाद अब सभी पार्टियों के हाईकमान ने अपने दिग्‍गज प्रत्याशियों को बाकी चरणों की ओर प्रत्याशियों के लिए मेहनत करने के लिए भेज दिया गया है। ये वो नेता हैं जो उनके सजातीय लोगों से बिलांग करते हैं। ताज्जुब की बात तो ये है ऐसे नेताओं ने अपने चुनाव के बाद ठीक से सांस भी नहीं ली है। सवाल ये है कि क्या वेस्ट के ये नेता लखनऊ, इलाहाबाद, कानपुर, कन्नौज आदि इलाकों को ठीक से संभाल पाएंगे?

संगीत सोम और लक्ष्मीकांत मिली लखनऊ की जिम्मेदारी

बीजेपी के लक्ष्मीकांत बाजपेयी को लखनऊ और कानपुर में भेजा गया है। बाजपेयी मूल रूप से कानपुर के रहने वाले हैं। संगीत सोम और सुरेश राणा को लखनऊ और प्रतापगढ़ वहीं पूर्व मंत्री वीरेंद्र सिंह सिरोही को कानपुर देहात, प्रदेश उपाध्यक्ष अश्वनी त्यागी को लखनऊ भेजने की जानकारी मिल रही है। महामंत्री अशोक कटारिया, सत्यप्रकाश अग्रवाल, अजय गुप्ता, आलोक सिसोदिया, विमल शर्मा, चरण सिंह लिसाड़ी आदि को दूसरे फेज के बाद अब तीसरे और चौथे फेज के लिए झांसी, महोबा, हमीरपुर, ललितपुर आदि में अलग-अलग लगाया गया है। उनको पांचवें, छठे और सातवें फेज के लिए भी तैयार रहने को कहा गया है।

अब याकूब और अखलाक को मध्यमांचल की कमान

पहले फेज के चुनाव के बाद बीएसपी के पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी को दूसरे फेज में अमरोहा में लगाया गया था। अब लखनऊ, सीतापुर, इलाहाबाद के लिए लगाया है। पूर्व सांसद शाहिद अखलाक को लखनऊ, वेस्ट यूपी प्रभारी अतर सिंह राव को कन्नौज और हरदोई में लगाया गया है। बीएसपी के बाकी नेता कादिर राणा, मुकुल उपाध्याय, प्रदीप भारती, हाफिज इमरान याकूब, योगेश वर्मा, सतेंद्र सोलंकी को तीसरे और चौथे फेज के चुनाव के लिए दूसरे जिलों भेजा गया है। आपको बता दें के बसपा के ये सिपाही अपने-अपने वोट बैंक के लिए बड़ी अहमियत रखते हैं।

गठबंधन के नेताओं को मिली यहां की जिम्मेदारी

सपा-कांग्रेस गठबंधन के इमरान मसूद, डॉक्टर युसुफ कुरैशी को लखनऊ और कन्नौज भेजा गया है। कार्तिकेय शर्मा, विनय प्रधान, मनोज त्यागी, दिनेश गुर्जर, सुरेंद्र नागर,जयवीर सिंह, शाहिद मंजूर, आदिल चौधरी, आदि को भी प्रत्याशी के पक्ष में माहौल बनाने का जिम्मा देते हुए चुनाव में भेजा गया है। ताज्जुब की बात तो ये है कि दो दिन पहले इमरान मसूद खुद अपना चुनाव करके चुके हैं। उन्हें ठीक से आराम भी नहीं मिल सका है। इतनी ही जल्दी लखनऊ और कन्नौज की जिम्मेदारी मिल गई है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???