Patrika Hindi News

एशियाई चैम्पियनशिप में स्वर्ण का सपना टूटा, फाइनल में हारी साक्षी

Updated: IST Sakhi Malik
एशियाई चैम्प्यिनशिप के फाइनल में पहुंची भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक अपना मुकाबला हार गई। इसी के साथ एशियाई चैम्पियनशिप में भारत महिलाओं का स्वर्ण पदक जीतने का सपना टूट गया।

नई दिल्ली. एशियाई चैम्प्यिनशिप के फाइनल में पहुंची भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक अपना मुकाबला हार गई। इसी के साथ एशियाई चैम्पियनशिप में भारत महिलाओं का स्वर्ण पदक जीतने का सपना टूट गया। फाइनल मुकाबले में साक्षी को जापानी पहलवान रिसाको कवाई ने 0-10 से हराया। इस हार के बाद भारतीय चुनौती रजत पदक पाकर समाप्त हो गई। बता दें कि रियो ओलम्पिक के बाद से करीब एक साल बाद साक्षी ने कुश्ती में वापसी की हैं।

एकतरफा हार मिली
शादी और अन्य कामों के कारण लगभग एक साल बाद रिंग में उतरी साक्षी को एकतरफा हार नसीब हुई। मुकाबले के पहले ही दौर में ही वेगास ने साक्षी को बुरी तरह पटखनी दी। इसके बाद साक्षी के पास संभलने को कोई मौका नहीं मिला। वह हार कर उपविजेता बनी।

ऐसा रहा फाइनल तक का सफर
साक्षी ने सेमीफाइनल में कजाकिस्तान की आयौलीम कासेमोवा को 15-3 से हराया। क्वार्टर फाइनल में उजबेकिस्तान की नाबीरा एसेनबाएवा को 6-2 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था। पिछले सप्ताह एशियाई चैम्पियनशिप के ट्रायल के लिए साक्षी ने राष्ट्रीय चैम्पियन मंजू कुमारी को 10-0 से हराय था। साक्षी ने महिलाओं की 58 किलोग्राम वर्ग में जगह बना ली थी, लेकिन टूर्नामेंट की शुरुआत से एक दिन पहले पता चला कि वह वजन बढ़ने के कारण वह इस वर्ग में नहीं खेल पाएंगी।

कवाई की चुनौती बरकरार
भारतीय महिला पहलवानों के सामने कवाई की चुनौती बरकरार रह गई। कवाई ने भारत की स्टार महिला पहलवान बबिता फोगाट को वर्ष 2012 विश्व प्रतियोगिता कनाडा में हराया। वही राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप की स्वर्ण पदक विजेता भारत की पूजा ढांडा को वर्ष 2014 एशियाई चैंपियनशिप के दौरान बहुत ही नजदीकी अंतर से पराजित की थीं।

स्वर्ण का सपना रह गया बाकी
साक्षी की हार ने एशियाई चैम्पियनशिप में भारत के स्वर्ण पदक पाने का सपना बाकी छोड़ दिया। अगर साक्षी जीतती तो वह स्वर्ण हासिल कर ऐसा रिकार्ड स्थापित कर देंगी जो आज तक किसी भारतीय महिला पहलवान ने नहीं किया है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???