Patrika Hindi News

ओपन बोर्ड परीक्षा में चल रहा था फर्जीवाड़ा, स्कैनिंग में बदल दी जाती थी उत्तर पुस्तिका

Updated: IST walking forgery
पुलिस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार, मुख्यालय को भेजी जाने वाली मुख्य उत्तर पुस्तिका स्केनिंग के दौरान बदल दी जाती थी। प्राचार्य की शिकायत पर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

पन्ना। शासकीय मनहर कन्या विद्यालय की राज्य ओपन बोर्ड परीक्षा में जमकर फर्जीवाड़ा चल रहा था। मुख्यालय को भेजी जाने वाली मुख्य उत्तर पुस्तिका स्केनिंग के दौरान बदल दी जाती थी। प्राचार्य की शिकायत पर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक, विद्यालय के प्राचार्य ने एसपी को राज्य ओपन बोर्ड परीक्षा में गड़बड़ी की सूचना दी।

एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एएसपी राघवेंद्र सिंह और कोतवाली थाना प्रभारी को जांच का जिम्मा सौंपा। जांच में सामने आया कि 4 जनवरी को राज्य ओपन बोर्ड भोपाल से नियुक्त स्केनिंग टीम शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पहुंची।

उत्तर पुस्तिका शीलबंद उपलब्ध

विद्यालय प्रबंधन द्वारा टीम को परीक्षार्थियों की उत्तर पुस्तिका शीलबंद उपलब्ध करायी गयी। 9 जनवरी को स्केनिंग टीम से कुछ लोग मिलने विद्यालय पहुंचे, जिन पर प्रबंधक को संदेह हुआ। मामले की जानकारी प्राचार्य द्वारा एसपी को दी गयी।

पूछताछ में हकीकत सामने

जांच टीम ने स्केनिंगकर्ता राजेश कुमार निवासी अमर कॉलोनी दिल्ली, कृष्णपाल सिंह प्रजापति पिता रामअवतार सिंह निवासी गुमसानी थाना असमोली, सम्बल उप्र सख्ती से पूछताछ आरंभ की तो हकीकत सामने आ गयी।

उत्तर पुस्तिका में हेरफेर

दोनों ने स्वीकार किया कि पैसा लेकर दो परीक्षार्थियों की उत्तर पुस्तिका में हेरफेर किया गया है। दोनों के पास से पुलिस ने दो लैपटॉप, एक स्केनर, दो मोबाइल, 17500 रुपए नकद जब्त किया।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???