Patrika Hindi News

भाजपा को उखाडऩे चले थे लालू खुद ही लटक गए

Updated: IST Lalu Prasad Yadav
लालू यादव पिछले चार दिनों से भाजपा को उखाड़ फेंकने वाले वक्तव्यों को लेकर चर्चा में थे...

पटना। लालू यादव पिछले चार दिनों से भाजपा को उखाड़ फेंकने वाले वक्तव्यों को लेकर चर्चा में थे। अवैध संपत्ति अर्जित करने और शहाबुद्दीन से जेल में बातचीत के टेप के खुलासे के साथ ही अब चारा घोटाले के फैसले के बाद उनकी परेशानी बढ़ गई।

सूत्रों की मानें तो जदयू पर गठबंधन तोडऩे का आंतरिक दबाव है। पर नीतीश कुमार इतनी सहजता से लालू का साथ छोडऩे वाले नहीं है। महागठबंधन में जदयू के 71 कांग्रेस के 27 और राजद के 80 विधायक हैं। 240 सदस्यों वाली विधान सभा में भाजपा और सहयोगियों के कुल 57 सदस्य हैं।

नए हालात में महागठबंधन सरकार को लेकर कयासों की सियासत गरमा गई है। राजद सुप्रीमो लालू यादव तो खामोश रहकर अधिवक्ताओं से विचार करने में जुटे हैं। उनकी ओर से शिवानंद तिवारी ने कहा कि भाजपा चहाती है कि महागठबंधन टूट जाए। वे लोग सत्ता में हिस्सेदारी के लिए लालायित हैं। तिवारी ने कहा कि महागठबंधन टूटने वाला कतई नहीं है।

इधर कांग्रेस ने पूरी तरह चुप्पी साध ली है। पार्टी के राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य प्रेम चन्द्र मिश्र घोटाले के याचिकाकर्ता हैं। उन्होंने कहा कि अदालत का फैसला न्यायिक प्रक्रिया का हिस्सा है। कांग्रेस हमेशा अदालत के फैसले का सम्मान करती है।

इस मामले में भाजपा के अनुसार नीतीश कुमार को लालू यादव का कमजोर होना पसंद है। भाजपा नेता सुशील मोदी ने कहा कि नीतीश हमेशा कमजोर पार्टनर चाहते हैं ताकि वह मजबूत दिखें। अदालत के फैसले से लालू यादव कमजोर होंगे तो महागठबंधन में कोई खींचतान नहीं मचेगी। लालू यादव के दोनों बेटे नीतीश कुमार के आगे घुटने टेकते रहेंगे।

मोदी ने कहा कि महागठबंधन इस तरह बहुत लंबे समय तक नहीं चलने वाला है। पूर्व मुख्यमंत्री और हम सेकुलर के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा कि महागठबंधन की सरकार ज्यादा समय तक चलने वाली नहीं है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???