Patrika Hindi News

पावन गंगा नदी में मकर संक्रांति पर लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी

Updated: IST
मकर संक्रांति 14-15 जनवरी को पड़ता है, क्योंकि इसी दिन धनु राशि को छोड़कर सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है।

पटना। मकर संक्रांति के अवसर पर आज अहले सुबह से लोग पटना में गंगा के घाट पर दिखाई दिए। पावन जल में डुबकी लगाकर भगवान भास्कर की आराधना कर रहे हैं। मकर संक्रांति के अवसर पर शनिवार को अहले सुबह से पावन गंगा नदी में स्नान करने हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। पतित पावनी गंगा में स्नान कर आज के दिन डुबकी लगाकर भगवान सूर्य की आराधना की जाती है।

भगवान भास्कर को नमन
बता दें कि आज संक्रांति का आखिरी दिन है और आज से सूर्य भगवान उत्तरायण हो जाते हैं। गंगा में डुबकी लगाने से लोग गंगा स्नान करने पहुंचे। श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर भगवान भास्कर को नमन करते हैं। इसके साथ ही दान दिया।

उत्तरायण होंगे सूर्य

मकर संक्रांति 14-15 जनवरी को पड़ता है, क्योंकि इसी दिन धनु राशि को छोड़कर सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। ज्योतिषचार्यों के मुताबिक इस बेला में गंगा में डुबकी लगाने से श्रद्धालुओं को मनोवांक्षित फल की प्राप्ति होती है। मकर संक्रांति की पुण्य बेला शनिवार दोपहर बाद 1:48 से शुरू होकर करीब 16 घंटे तक रहेगी। यहीं से सूर्य उत्तरायण होंगे।

इससे देवताओं का दिन और असुरों की रात्रि का आरंभ हो जाएगा। इसके साथ ही खरमास भी समाप्त हो जाएगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???