Patrika Hindi News

विधानसभा में भाजपा ने की राजद-कांग्रेस विधायकों के निलंबन की मांग

Updated: IST Bihar assembly
बिहार विधानसभा में आज कार्यवाही शुरू होते ही बीजेपी सदस्यों ने जमकर हंगामा किया, इस हंगामे के बीच कार्यवाही भी चली...

पटना। बिहार विधानसभा में आज कार्यवाही शुरू होते ही बीजेपी सदस्यों ने जमकर हंगामा किया। साथ ही सभी ने राजद और कांग्रेस विधायकों के निलंबन की मांग को लेकर भी वेल में आकर नारेबाजी शुरू कर दी। उनका आरोप है कि मंगलवार को राजद और कांग्रेस सदस्यों ने अमर्यादित आचरण किया। हालांकि उनके हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही भी चली।

बता दें कि कुछ देर तक प्रश्नोत्तर काल चला। भाजपा के कुछ सदस्य नारे लिखे पर्चे लेकर आए थे। अध्यक्ष ने इस पर एतराज जताया कि बुधवार को ही सदन में सहमति बनी है कि सदस्य प्लेकार्ड-तख्तियां और झंडे लेकर नहीं आएंगे। फिर भाजपा सदस्य इसे लेकर कैसे अंदर आ गए। इस पर भाजपा सदस्यों ने उसे नीचे रख दिया।

अध्यक्ष विधानसभा विजय कुमार चौधरी ने कहा कि अनुशासन के मामले को पक्ष-विपक्ष के तौर पर नहीं देखा जा सकता है। इस मामले में आसन से न्याय ही मिलेगा। मामले में सभी दलों के सदस्यों ने खेद जताते हुए घटना र्की निंदा की है। वह अपने कक्ष में नेता प्रतिपक्ष और सरकार के प्रतिनिधि की मौजूदगी में सभी पक्षों को सुनेंगे और निराकरण की कोशिश करेंगे।

नेता प्रतिपक्ष डॉ. प्रेम कुमार ने मामले में कहा कि ऐसी घटना फिर न हो इसलिए कार्रवाई होनी चाहिए। विपक्ष इस मामले में आसन से न्याय और कार्रवाई की अपेक्षा करता है। सदन में अव्यवस्था के लिए विपक्ष जिम्मेवार नहीं है। सरकार बताए कि क्या महिला विधायक को धमकी देना और हाथ मड़ोरना उचित है। सरकार क्या संदेश देना चाहती है। आज जो हालात उत्पन्न हुए हैं, उसके लिए सत्ताधारी दल के लोग ही जिम्मेवार हैं।

कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि भाजपा के लोग हठधर्मिता दिखा रहे हैं। आसन के नियमन को भी नहीं मान रहे हैं। भाजपा सदस्यों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि सदन में उत्पन्न गतिरोध दूर करने के लिए बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में सभी दल सहमति के करीब थे, लेकिन इसी बीच नेता विपक्ष उठकर चले गए। विपक्ष अमर्यादित आचरण को वैध ठहराने में लगा है। पूर्व में ऐसे आचरण पर जैसी कार्रवाई हुई है वैसी ही कार्रवाई इस मामले में होगी, लेकिन विपक्ष को इस पर भी ऐतराज है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???