Patrika Hindi News

Photo Icon 'कुत्ता काटे की वैक्सीन खत्म हो गई है, आज्ञा से मुख्य चिकित्सा अधीक्षक'

Updated: IST pilibhit District hospital
इस सरकारी अस्पताल में अगर रैबीज का इंजेक्शन लगवाने जा रहे हैं तो जरा सीमओ साहब द्वारा लगाया गया नोटिस ध्यान से पढ़ लीजिए, नहीं तो निराशा हाथ लगेगी।

पीलीभीत। जिला अस्पताल में चार महीनों से रैबीज इंजेक्शन ही नहीं है। यहां के डॉक्टर एक प्राइवेट अस्पताल का पर्चा लिखकर मरीज से बाहर से इंजेक्शन लेने की बात कहते हैं। जब मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इंजेक्शन का प्रबंध किया जा रहा है।

चार महीने से नहीं है रैबीज

बता दें कि पीलीभीत से केन्द्र में एक मंत्री तो सूबे में दो मंत्री हैं बावजूद इसके जिले का सरकारी अस्पताल बदहाल है। जनपद की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के बहुत बुरे हाल हैं। जिला अस्पताल में चार माह से रैबीज़ का इन्जेक्शन ही नहीं है। दूर-दराज से आए लोग यहां भटकते हैं जब वो अस्पताल में ‘कुत्ते काटे की वैक्सीन खत्म हो गई है, आज्ञा से मुख्य चिकित्सा अधीक्षक’ लिखा लगा बोर्ड देखते हैं।

pilibhit District Hospital

कमीशनखोरी के चलते डॉक्टर लिखते हैं पर्चा

सूत्रों की मानें तो सरकारी सप्लाई आने के बावजूद सरकारी डॉक्टर स्टॉक नहीं लेते हैं। ऐसा कमीशनकोरी के लिए किया जाता है। डॉक्टर बाहर का पर्चा लिखते हैं जहां से उन्हें कमीसन मिलता है। डॉक्टरों की करामात के चलते जनता को मुफ्त में मिलने वाला टीका अब उन्हें 320 रूपए में लेना पड़ रहा है। वहीं जब पूरे मामले में जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हां टीके नहीं हैं, जल्द ही टीके उपलब्ध कराए जाएंगे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???