Patrika Hindi News

AK दिल्ली को स्टेपनी की तरह इस्तेमाल करना बंद करें : योगेन्द्र

Updated: IST Yogendra Yadav
यादव ने कहा कि केजरीवाल को कहीं का भी मुख्यमंत्री बनने का अधिकार है, लेकिन वह दिल्ली को स्टेपनी की तरह इस्तेमाल करना बंद करें

नई दिल्ली। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला करते हुए शनिवार को कहा कि वह दिल्ली को स्टेपनी की तरह इस्तेमाल करना बंद करें। दिल्ली नगर निगम के चुनावों की तैयारी में जुटी स्वराज इंडिया के एक महीने भर चलने वाले अभियान 'जवाब दो-हिसाब दो' की जानकारी देने के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यादव ने कहा कि उनका यह अभियान रविवार से निगम के सभी 272 वार्डों में पहुंचने की शुरुआत करेगा और 12 फरवरी को रामलीला मैदान में इसका समापन होगा।

केजरीवाल के पूर्व सहयोगी रहे यादव ने कहा कि इस अभियान का कल (रविवार) से 180 टीमें शुरुआत करेंगी। अभियान के दौरान 10 लाख लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य है। इस दौरान राजधानी के लोगों से उनकी समस्याओं को जानकर सरकार तक पहुंचाया जाएगा। यादव ने कहा कि केजरीवाल को कहीं का भी मुख्यमंत्री बनने का अधिकार है, लेकिन वह दिल्ली को स्टेपनी की तरह इस्तेमाल करना बंद करें।

उन्होंने कहा कि राजधानी में 'तीन सरकार, तीनों बेकार' हैं। दिल्ली के मात्र 37 प्रतिशत लोगों को यह जानकारी है कि वह किस एमसीडी के तहत आते हैं। मात्र 32 प्रतिशत लोगों को ही अपने वार्ड का पता है। दिल्ली सरकार की लोकप्रियता केंद्र सरकार व एमसीडी के मुकाबले कम हैं।

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के आंदोलन से उपजी आम आदमी पार्टी (आप) इस मुहाने पर अब तक पूरी तरह असफल रही है। दिल्ली के 36 प्रतिशत लोगों का मानना है कि आप के आने के बाद भ्रष्टाचार बढ़ा है। 23 प्रतिशत लोग इसे जस का तस बताते हैं, जबकि 25 प्रतिशत का मानना है कि इसमें कमी आई है। स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुपम ने कहा कि

सफाई और स्वच्छता जैसे आम जनता से जुड़े कई ऐसे गंभीर मुद्दे हैं जो सीधा एमसीडी के कार्य क्षेत्र में आते हैं। उन्होंने कहा कि आगामी एमसीडी चुनावों को मुद्दों का चुनाव बनाएंगे।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???