Patrika Hindi News

MCD चुनावः दिल्ली हाईकोर्ट ने वीवीपैट वाले EVM से ही मतदान कराने की याचिका की खारिज 

Updated: IST Delhi high court
आम आदमी पार्टी (आप) को शुक्रवार को दिल्ली उच्च न्यायालय से उस समय तगड़ा झटका लगा, जब न्यायालय ने दिल्ली नगर निगमों के चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन ( ईवीएम) के साथ वोटर वैरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) मशीन जोडने की याचिका खारिज कर दी ।

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (आप) को शुक्रवार को दिल्ली उच्च न्यायालय से उस समय तगड़ा झटका लगा, जब न्यायालय ने दिल्ली नगर निगमों के चुनाव में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन ( ईवीएम) के साथ वोटर वैरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) मशीन जोडने की याचिका खारिज कर दी । न्यायाधीश एके पाठक ने आप और निगम चुनाव में एक उम्मीदवार मोहम्मद ताहिर हुसैन की याचिका को खारिज करते हुए कहा कि न्यायालय मतदान के आखिरी वक्त में ऐसा निर्णय नहीं दे सकता । न्यायमूर्ति पाठक ने कहा कि इस वक्त वीवीपैट मशीन लगाने का आदेश नहीं दिया जा सकता । याचिका में चुनाव में इस्तेमाल की जाने वाली ईवीएम के साथ छेड़छाड़ करने की आशंका जताई गई थी।

यह कहा था आप ने अपनी याचिका में
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में ईवीएम को लेकर उठे विवाद के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मत-पत्रों के जरिए निगमों के चुनाव कराए जाने की मांग की थी । पार्टी ने 23 अप्रैल को होने वाले चुनाव में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने की दलील देते हुए न्यायालय से मतदान में ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीन भी रखने का अनुरोध किया था।

वीवीपैट के ये हैं फायदे
इस मशीन से मतदाता के वोट डालने के बाद एक पर्ची निकलती है, जिससे यह पुष्टि होती है कि उसने जिस पार्टी को मत दिया वह उसी को मिला है। इसके साथ ही विवाद की स्थिति में इन पर्चियों की गिनती भी की जा सकती है, ताकि किसी के मन में किसी प्रकार का शंदेह नहीं रह पाए।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???