Patrika Hindi News

पहली बार : CM अखिलेश के लिए बड़े मिशन पर हैं डिम्पल

Updated: IST Dimple Yadav And Priyanka Gandhi Who Talk Alliance
कांग्रेस सूत्र ने कहा है कि आयोग द्वारा सपा के सिम्बल पर कोई फैसला आने बाद राज्य में कांग्रेस-समाजवादी पार्टी के गठबंधन की अनाउंसमेंट की जाएगी।

नई दिल्ली/लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव में पहली बार डिम्पल यादव घर के बाहर पति अखिलेश यादव की सत्ता में दोबारा वापसी के लिए काफी सक्रिय हैं। हालांकि, वे कन्नौज से सपा की सांसद हैं और सार्वजनिक मंचों पर अक्सर अखिलेश के साथ नजर आती हैं। लेकिन यह पहला मौका है जब वे अखिलेश के लिए बड़ी भूमिका में हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ वे प्रियंका गांधी के साथ अखिलेश और कांग्रेस के गठबंधन के लिए बातचीत कर रही हैं।

खबरों की मानें तो जिस वक्त अखिलेश अपने चाचा और पिता के साथ पार्टी के अंदरुनी विवाद में उलझे हुए थे, उस वक्त डिम्पल, अखिलेश की ओर से गठबंधन बनाने के प्रयासों में जुट गई थीं। अखिलेश खेमा की ओर से जो भूमिका उनकी पत्नी निभा रही हैं, कांग्रेस के लिए वैसा ही काम प्रियंका गांधी कर रही हैं। इसके लिए दोनों के बीच दिल्ली में मुलाक़ात भी हो चुकी है। हाल ही में इलाहाबाद में प्रियंका और डिम्पल की एक साथ फोटो वाले पोस्टर ने चर्चाओं को और हवा दे दी। हालांकि, कांग्रेस लोकल बॉडी ने इसे व्यक्तिगत करार दिया गया। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में लोकल कांग्रेस लीडर ने कहा, "अभी पार्टी हाई कमान से इस बारे में ग्रीन सिग्नल नहीं मिला है। जो पोस्टर समाने आए हैं वे व्यक्तिगत हैं।" कांग्रेस पिछले 27 सालों से राज्य की सत्ता से बाहर है। पार्टी के कई नेताओं का मानना है कि गठबंधन के जरिए कांग्रेस की लंबे वक्त बाद सत्ता में वापसी हो सकती है।

अखिलेश को उम्मीद, 300 सीटें जीत सकता है गठबंधन

अखिलेश यादव को यह उम्मीद है कि अगर यूपी में कांग्रेस का साथ मिले तो गठबंधन को 403 विधानसभा सीटों में से 300 सीटें जीत मिल सकती हैं। हालांकि, मुलायम सिंह ने अखिलेश के इस प्रपोजल को पहले ही खारिज कर दिया था। पिछले दिनों सपा के अंदरुनी विवाद में भी यह एक मसले के तौर पर सामने आया था। उधर, कांग्रेस में भी कुछ नेताओं ने सपा के साथ गठबंधन का विरोध किया है। उनका मानना है कि इससे पार्टी को यूपी में बहुत फायदा नहीं मिलने वाला है।

निर्वाचन आयोग के फैसले के बाद गठबंधन की घोषणा

उधर, टाइम्स ऑफ इंडिया की इसी रिपोर्ट में एक कांग्रेस सूत्र के हवाले से कहा गया है कि इलेक्शन कमीशन द्वारा समाजवादी पार्टी के सिम्बल को लेकर कोई फैसला आने बाद राज्य में कांग्रेस-समाजवादी पार्टी के गठबंधन की अनाउंसमेंट की जाएगी। पार्टी की अंदरुनी कलह के बाद सपा के दोनों धडों ने आयोग में साइकिल पर अपना-अपना दावा पेश किया है। 17 जनवरी तक इसपर फैसला आने की उम्मीद है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???