Patrika Hindi News

नगर निगम के 272 में से 218 वार्ड हम जीतेंगे : आप

Updated: IST Ashish Khaitan
खेतान ने कहा कि यह आंकड़े एक पेशेवर एजेंसी के करीब 31,000 वोटरों के दिल्ली में साक्षात्कार से सामने आए हैं

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) ने गुरुवार को कहा कि दिल्ली में रविवार को होने वाले 272 वार्डों के चुनाव में से 218 में 'आप' जीत हासिल करेगी। आप नेता आशीष खेतान ने मीडिया से कहा कि 10 सालों से नगर निगम में शासन करने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 39 सीटें और कांग्रेस को आठ सीटें मिलेंगी। उन्होंने कहा कि निर्दलीय उम्मीदवार और छोटी पार्टियों को सभी वोटों का 11.5 फीसदी वोट मिलेगा, लेकिन सिर्फ सात सीट पर जीत मिल सकेगी।

खेतान ने कहा कि यह आंकड़े एक पेशेवर एजेंसी के करीब 31,000 वोटरों के दिल्ली में साक्षात्कार से सामने आए हैं। यह मतदाता दिल्ली के नगर निगम चुनावों में वोट डालेंगे। उन्होंने कहा कि आप को कुल वोटों का 51.2 फीसदी मिलेगा। यह विधानसभा में मिले वोट से 3.1 फीसदी कम होगा। आप को 2015 के विधानसभा चुनावों में 70 सीटों में 67 पर जीत हासिल हुई थी।

भाजपा को 28.1 फीसदी वोट और कांग्रेस को 9.2 फीसदी वोट प्राप्त होगा। खेतान के अनुसार, इस सर्वेक्षण में 61 फीसदी लोगों ने दिल्ली में सफाई के लिए नगर निगम को जिम्मेदार ठहराया है और 60 फीसदी ने नगर निगम में भ्रष्टाचार को चुनाव का बड़ा मुद्दा माना है। उन्होंने बताया कि सर्वे में ज्यादातर लोग आप सरकार के स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में काम, बिजली की दरों में कमी और हर घर को 20,000 लीटर पानी देने से खुश हैं।

दिल्ली को एक साल में स्वच्छ बना दूंगा : केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को वादा किया कि यदि आम आदमी पार्टी (आप) रविवार को होने वाले तीनों नगर निगमों के चुनाव में जीतती है तो वह दिल्ली को सालभर में स्वच्छ बना देंगे।

दिल्ली के तीनों नगर निगमों पर 10 साल से भाजपा का कब्जा है। राष्ट्रीय राजधानी को साफ-सुथरा रखने की जिम्मेदारी नगर निगमों की है, लेकिन भाजपा शासित तीनों निगम इस मामले में विफल रही है। समय पर वेतन न मिल पाने के कारण निगमों के सफाईकर्मी बार-बार हड़ताल पर चले जाते हैं। शहर में गंदगी का अंबार लग जाता है।

समाचार चैनलों पर अक्सर दिल्ली की गंदगी दिखाई जाती है, जिससे बाहर के लोग समझते हैं कि दिल्ली की आप सरकार काम नहीं कर रही है, इसलिए इतनी गंदगी है। यह भ्रम फैलने से भाजपा खुश होती है। सोचती है, चलो दिल्ली के बाहर आप सरकार बदनाम तो हो रही है! सच तो यही है कि भ्रम फैलाने की मुहिम में दिल्ली भाजपा अपने प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान तक को भूल जाती है।

केजरीवाल ने एक संक्षिप्त वीडियो संदेश में मतदाताओं से कहा कि भारतीय जनता पार्टी दिल्ली नगर निगमों की सत्ता में दस साल तक रहने के बाद भी दिल्ली को साफ नहीं रख पाई, जब आप की 'झाड़ू' चलेगी, तभी राष्ट्रीय राजधानी साफ होगी।

वीडियो में केजरीवाल पूछ रहे हैं, क्या आप दिल्ली की सफाई से खुश हैं? उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोग कूड़े के ढेर, बंद नालियों और मच्छरों के प्रकोप से बुरी तरह परेशान हैं। उन्होंने कहा कि तीनों नगर निगम बीमार और शिथिल बने हुए हैं। दिल्ली सरकार द्वारा करोड़ों रुपये दिए जाने के बाद भाजपा शासित नगर निगम दिल्ली को साफ नहीं रख सके। तीनों नगर निगम भ्रष्टाचार के अड्डे बने हुए हैं।

आप के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा, उन्होंने (भाजपा) दस साल में कुछ किया ही नहीं, सिर्फ फंड की बंदरबाट होती रही है। मैं अब दिल्ली को साफ करने के लिए आप की अनुमति चाहता हूं। मैं दिल्ली को सालभर में चमचमाता हुआ बना दूंगा। आप ने अपने घोषणापत्र में हाउस टैक्स माफ और तीन साल में दिल्ली को डेंगू-मुक्त करने का वादा किया है।

दिल्ली नगर निगम चुनाव में आप का मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस से है। नीतीश कुमार के जनता दल (युनाइटेड), मायावती की बहुजन समाज पार्टी और योगेंद्र यादव की स्वराज इंडिया सहित कई छोटी पार्टियां भी मैदान में हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???