Patrika Hindi News

मुस्लिम महिलाओं ने 3 तलाक मुद्दे पर भाजपा को वोट दिया : प्रसाद

Updated: IST ravi shankar prasad
रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि इसका धर्म से कोई लेना-देना नहीं है, बल्कि यह मुस्लिम महिलाओं के अधिकार का मुद्दा है

गांधीनगर। केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने शनिवार को कहा कि हाल में संपन्न हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुस्लिम महिलाओं ने भाजपा को इसलिए वोट दिया, क्योंकि भाजपा ने तीन तलाक का मुद्दा उठाया। गुजरात राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि किसी अन्य दल या मायावती, डिंपल यादव और प्रियंका गांधी या किसी अन्य महिला नेता ने इस मुद्दे को नहीं उठाया, जिससे मुस्लिम महिलाएं परेशान थीं।

रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि इसका धर्म से कोई लेना-देना नहीं है, बल्कि यह मुस्लिम महिलाओं के अधिकार का मुद्दा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा, हमने चूंकि उनकी चिंता को अभिव्यक्ति दी, इसीलिए मुस्लिम महिलाओं ने हमें वोट दिया। भाजपा की उत्तर प्रदेश में जीत की यह मुख्य वजह बनी। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के सवाल पर उन्होंने कहा, राम मंदिर उसी जगह बनेगा जहां राम लला की मूर्ति स्थापित है।

शौहर ने कागज के पुर्जे पर तीन बार तलाक लिखकर भेजा, बीवी पहुंची महिला आयोग

मुकेश देशमुख/दुर्ग. सामाजिक रवायतों में संवेदनहीनता समा जाए तो कई बार जीवन असहाय और पीड़ा से भर जाती है। शौहर के कागज के पुर्जे पर तीन बार तलाक लिखने से एक महिला को इंसाफ के लिए राज्य महिला आयोग की चौखट पर दस्तक देनी पड़ी।

दरअसल मामला छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले का है, जहां निकाह के महज एक साल बाद हैदराबाद में रहने वाले शौहर ने दुर्ग निवासी बीवी को कागज के पुर्जे पर तीन बार तलाक लिखकर यह कहते हुए भेज दिया कि जिनकी मर्जी से शादी हुई, वह उनके साथ ही रहे। पीडि़ता ने इंसाफ के लिए राज्य महिला आयोग के सामने गुहार लगाई है।

इससे पहले महिला ने शौहर के खिलाफ घरेलू हिंसा व प्रताडऩा की शिकायत 5 मई 2015 को दर्ज कराई। इससे खफा शौहर ने हैदराबाद से तलाक का खत भेज दिया। पीडि़ता का सवाल है, केवल तीन बार एक शब्द बोलकर किसी की जिंदगी का भरोसा कैसा तोड़ सकता है?

यह है पूरा मामला

राज्य महिला आयोग में फरियाद लेकर पहुंची केलाबाड़ी की महिला के मुताबिक उसका निकाह 26 अप्रैल 2014 को हैदराबाद में नौकरी करने वाले से हुआ। मई 2015 में उसे शौहर से तलाक का खत मिला। शादी में कार के साथ 45 तोला सोना, हीरे की अंगूठी दी थी। आयोग की बैंच ने फिलहाल इस पर कोई फैसला नहीं दिया है। आयोग की मानें तो यह मजहबी मामला है। इसमें शरीयत कानून और तमाम पेचीदगियों को देखना होगा, इसलिए आयोग की अध्यक्ष के समक्ष प्रकरण रखा जाएगा।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???