Patrika Hindi News

'भाजपा को रोकने के लिए 2019 में राहुल बनेंगे अलाएंस के PM कैंडिडेट'

Updated: IST rahul gandhi
पार्टी ने कहा है कि अगर 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी को रोकने के लिए राहुल गांधी अलाएंस के पीएम कैंडिडेट होंगे

नई दिल्ली। नोटबंदी पर पीएम मोदी का समर्थन करने की वजह से कांग्रेस बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार से नाराज है। पार्टी ने कहा है कि अगर 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी तथा भाजपा को जीत से रोकने के लिए अलाएंस बना तो इसके पीएम कैंडिडेट नीतीश कुमार नहीं राहुल गांधी होंगे।

कांग्रेस के अंदरूनी सूत्रों के अनुसार नीतीश 2019 के चुनाव को ध्यान में रखते हुए नोटबंदी का समर्थन कर रहे हैं। नीतीश इस चुनाव के लिए अपनी अलग छवि बनाना चाहते है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस पूरी तरह से नोटबंदी के खिलाफ है। नीतीश द्वारा नोटबंदी का समर्थन करने से कांग्रेस खासी नाराज है, हालांकि कोई भी नेता ऑफिशियली इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से बच रहा है।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने नाम न लिए जाने की शर्त पर कहा कि एक ही अलायंस से दो नेता (राहुल और नीतीश) पीएम कैंडिडेट बनकर वोट नहीं मान सकते। उन्होंने कहा, "नोटबंदी के खिलाफ राहुल गांधी की अगुआई में प्रदर्शन हो रहा है, लेकिन हमारे भरोसेमंद नेताओं में से ही एक इसे कमजोर कर रहे हैं। इससे हमें तकलीफ हुई है। कुछ भी हो जाए, कांग्रेस लोकसभा चुनाव और पीएम कैंडिडेट को लेकर मिलने वाली चुनौती मंजूर नहीं करेगी।"

नीतीश ने ये कहा था

आपको बता दें कि नोटबंदी को लेकर नीतीश ने पीएम मोदी का समर्थन किया था। हाल ही में ममता बनर्जी ने अरविंद केजरीवाल तथा अन्य नेताओं के साथ मिलकर दिल्ली में नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन किया था। नीतीश ने इसमें भी शामिल होने से इंकार कर दिया था। उन्होंने कहा था कि जब मोदी के फैसले पर प्रेसिडेंट ने मोहर लगा दी, फिर इसका विरोध करना बेकार है।

2013 में अलग हो गए थे भाजपा से

कुछ लोग नीतीश के इस कदम को उनके भाजपा के प्रति बढ़ते रूझान के रूप में भी देख रहे हैं। गौरतलब है कि लगभग दो दशकों तक भाजपा के साथ गठजोड़ रखने के बाद 2013 में नीतीश उससे अलग हो गए थे। उन्होंने उस समय नरेन्द्र मोदी को भाजपा द्वारा पीएम पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर विरोध जताया था और बात नहीं मानने पर वह एनडीए से अलग हो गए थे।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???