Patrika Hindi News

राष्ट्रपति प्रत्याशी रामनाथ कोविंद ने की पीएम मोदी और शाह से मुलाकात

Updated: IST Kovid meets Pm modi
दिल्ली एयरपोर्ट पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, कैबिनेट मंत्री थावरचंद गहलोत उन्हें रिसीव करने पहुंचे।सदन में एनडीए का जितना बहुमत है उसे देखते हुए उनका राष्ट्रपति बनना लगभग तय है।

नई दिल्ली: राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर भाजपा की ओर से अपने नाम की घोषणा होने के बाद बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद पटना से दिल्ली पहुंचे। राजधानी दिल्ली पहुंचते ही कोविंद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। इस मुकालात के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे। दिल्ली एयरपोर्ट पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, कैबिनेट मंत्री थावरचंद गहलोत उन्हें रिसीव करने पहुंचे। दिल्ली पहुंचते ही कोविंद ने राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार घोषित करने के लिए पीएम मोदी, अमित शाह और संसदीय बोर्ड के सदस्यों को धन्यवाद कहा। सदन में एनडीए का जितना बहुमत है उसे देखते हुए उनका राष्ट्रपति बनना लगभग तय है।

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के मूल निवासी हैं कोविद
बिहार के राज्यपाल कोविंद उत्तर प्रदेश के कानपुर में दलित परिवार में पैदा हुए थे। भाजपा के पास उपलब्ध समर्थन को देखते हुए उनका राष्ट्रपति बनना लगभग तय माना जा रहा है। हालांकि, विपक्ष भी अपना उम्मीदवार खड़ा करने का मन बना चुका है। कोविंद के नाम पर सर्वसम्मति बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बातचीत की है। भाजपा ने अभी उप राष्ट्रपति के लिए कोई नाम तय नहीं किया है। रामनाथ कोविंद भाजपा के दलित मोर्चा के अध्यक्ष रहने के साथ ही दो बार राज्य सभा के सदस्य भी रहे हैं। वे राजनीति के अलावा वकालत के पेशे में भी सक्रिय रहे हैं।

सहयोग भी मिलने की उम्मीद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई भाजपा की संसदीय बोर्ड की बैठक में सोमवार दोपहर उनके नाम पर फैसला किया गया। इस दौरान भाजपा के सभी वरिष्ठ नेता यहां मौजूद थे। बैठक समाप्त होते ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उनके नाम का एलान कर दिया। उन्होंने दावा किया है कि कोविंद एनडीए के सभी घटक दलों के उम्मीदवार होंगे। हालांकि, भाजपा की सबसे पुरानी सहयोगियों में शामिल शिवसेना ने अब तक समर्थन का भरोसा नहीं दिया है। यह जरूर है कि भाजपा को कई ऐसी पार्टियों का सहयोग भी मिलने की उम्मीद है जो एनडीए का हिस्सा नहीं हैं।

नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी को फोन किया
उनका नाम तय होने के साथ ही भाजपा इस पर एनडीए के साथ ही विपक्ष का सहयोग भी हासिल करने में जुट गया है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी सहित कई बड़े नेताओं को इस संबंध में फोन किया है। हालांकि कांग्रेस सहित विपक्ष के किसी दल ने उन्हें अपना समर्थन देने को ले कर कुछ नहीं कहा है। शिवसेना के रवैये को ले कर पूछे गए सवाल के जवाब में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि उद्धव ठाकरे से उन्होंने मुलाकात की थी। उस दौरान उन्होंने उम्मीदवार का नाम जानना चाहा था। अब उन्हें कोविंद के चुने जाने की सूचना दे दी गई है। इसी तरह विपक्ष की सहमति को ले कर भाजपा कितनी आशान्वित है, यह पूछने पर उन्होंने कहा, हमने तो बहुत उम्मीद के साथ फोन किया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???