Swift अपनी ही कंपनी की इस कार को पछाड़ बनी नंबर वन सेलिंग कार

Updated: IST Maruti Swift
सि‍आम की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल 2017 में पॉपुलर हैचबैक कार स्‍वि‍फ्ट सबसे ज्‍यादा बि‍कने वाली कार रही है

नई दि‍ल्‍ली। देश की नंबर वन ऑटोमोबाइल कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की पॉपुलर हैचबैक कार स्विफ्ट ने सेलिंग के मामले में अप्रेल माह में लंबी छलांग लगाई है। आपको बता दें पिछले कुछ महीनों में स्विफ्ट के सेल में गिरावट देखने को मिल रही थी लेकिन पिछले अप्रैल माह में इस कार की सेल शानदार ग्रोथ देखने को मिली है। कंपनी ने इस माह में स्विफ्ट की 23,802 यूनिट्स सेल की है।

कंपनी की मुताबिक इस कार की सेल में वृद्धि का बड़ा कारण स्वि‍फ्ट पर लगातार डि‍स्‍काउंट और एक्‍सचेंज बोनस जैसे ऑफर्स रहे है। साथ ही अगले साल की शुरुआत में नेक्सट जनरेशन को पेश करने की तैयारी कर रही है, इसलिए कंपनी यह चाहती है कि नई कार के आने से पहले पुरानी स्विफ्ट की इन्वेंटरी का खाली कर दिया जाए ताकि नई स्विफ्ट के लिए एक अच्छा मार्केट तैयार किया जा सके।

सोसाइटी ऑफ इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (सि‍आम) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल 2017 में स्‍वि‍फ्ट सबसे ज्‍यादा बि‍कने वाली कार रही है। कंपनी ने इस महीने के दौरान स्‍वि‍फ्ट की 23,802 यूनि‍ट्स बेची हैं। इसने सालाना आधार पर 54त्न की ग्रोथ दर्ज की है। जबकि मार्च 2017 में कंपनी ने स्विफ्ट की15,513 यूनि‍ट्स बेची थी। इसके साथ
लंबे समय से मारुति‍ सुजुकी की बेस्‍ट सेलिंग कार के रूप में पहचान बनाने वाली ऑल्‍टो अप्रैल में सेल्‍स के मामले में दूसरे पायदान पर रही। इस माह में कंपनी ने 22, 549 ऑल्‍टो बेची है, जो अप्रैल 2016 के मुकाबले 32त्न ज्‍यादा है।
टॉप 10 सेलिंग कारों की लि‍स्‍ट में तीसरे नंबर पर मारुति की प्रीमि‍यम हैचबैक कार बलेनो है। कंपनी ने अप्रैल में 17,530 बलेनो बेची है। इसकी सेल्‍स में 83त्न की ग्रोथ आई है। इसके अलावा चौथे नंबर पर मारुति‍ की ही वैगनआर है। कंपनी ने इसी महीने में 16,348 वैगनआर बेची है, जि‍समें सालाना 7त्न की ग्रोथ आई है। अप्रैल 2017 में कंपनी ने 8,797 डिजायर बेची है। इसमें सालाना 33त्न की गि‍रावट देखने को मिली।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???