Patrika Hindi News

पहले की गुंडागर्दी अब समझौते के लिए बनाया जा रहा दबाव

Updated: IST Mayor Making pressure of compromise
साप्ताहिक मंडी में महापौर मधुबाई व उसके किन्नर साथियों के द्वारा जमकर गुंडागर्दी की गई। अब महापौर की ओर से इस मामले को लेकर पीडि़त पक्ष के लोगों से समझौता करने के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा है।

रायगढ़. साप्ताहिक मंडी में महापौर मधुबाई व उसके किन्नर साथियों के द्वारा जमकर गुंडागर्दी की गई। अब महापौर की ओर से इस मामले को लेकर पीडि़त पक्ष के लोगों से समझौता करने के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा है।

महापौर के लोग इस मामले में मंडी के लोगों से भी संपर्क साधा जा चुका है। हालांकि अब तक समझौता नहीं हो सका है।

रविवार को साप्ताहिक मंडी में महापौर व उसके कुछ किन्नर साथी पहुंचे थे। वहीं गरीब सब्जी के छोटे-छोटे व्यवसायियों के पास पहुंच रहे थे।

वहीं किसी से टमाटर तो किसी से धनिया व अन्य सब्जी गुंडागर्दी करते हुए उठा रहे थे। इसका विरोध गांव के एक गरीब सब्जी व्यवसायी ने किया।

सब्जी व्यवसायी के इस विरोध से महापौर के साथ उसके किन्नर साथी उस पर हावी हो गए। वहीं कुछ किन्नरों ने टमाटर को बुरी तरह से पैरों तले रौंद दिया। वहीं उसके साथ गाली-गलौज व अभ्रद व्यवहार भी किया।

हालांकि घटना के तत्काल बाद आसपास के लोगों ने विवाद शांत कराया। वहीं विवाद शांत होने के बाद पीडि़त व्यवसायी इस मामले की शिकायत लेकर कोतवाली थाना पहुंचे थे।

जहां महापौर व उसके किन्नर साथियों के खिलाफ लिखित शिकायत दी गई। हालांकि पुलिस इस मामले में पहले जांच करने की बात कहते हुए अब तक रिपोर्ट दर्ज नहीं की है।

अब यह खबर आ रही है कि महापौर की ओर से इस मामले में समझौता के लिए पीडि़त व्यवसायियों पर दबाव बनाया जा रहा है। बताया जा रहा है इसके लिए मंडी के नेतानुमा लोगों से भी संपर्क साधा जा चुका है। हालांकि अब तक पीडि़त पक्ष की ओरसे समझौता की पहल नहीं की गई है।

दो साल से चल रहा सिलसिला- दैनिक बाजार में व्यवसाय कर रहे लोगों की माने तो मुफ्त में सब्जी ले जाने का मामला यह पहली बार नहीं हुआ है।

इस तरह आए दिन मुफ्त में किन्नरों के द्वारा सब्जी ले जाया जाता है। हालांकि थोड़ी सब्जी के लिए छोटा व्यवसायी भी मना नहीं करता, लेकिन अब उनकी डिमांड बढ़ती जा रही है। थैला भर कर सब्जी की मांग की जाती है।

आक्रोशित है व्यवसायी- साप्ताहिक बाजार में महापौर व उसके किन्नर साथियों के द्वारा किए गए अभ्रदता से मंडी के व्यवसायियों में खासी नाराजगी है।

व्यवसायियों की माने तो इस पर लगाम लगाया जाना आवश्यक हो गया है, यदि भी इस मामले में विरोध नहीं किया जाता है तो यह और भी बढ़ जाएगा। वहीं आने वाले दिनों में व्यवसायी और भी ज्यादा परेशान होंगे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???