Patrika Hindi News

एनएसयूआई ने सीएम से निजी स्कूलों की मनमानी बंद करवाने की लगाई गुहार

Updated: IST NSUI imposes ban on private schools in Tamilnadu
नए शिक्षण सत्र के शुरू होने के साथ ही निजी स्कूलों की बढ़ती मनमानी पर नकेल कसने की मांग एनएसयूआई की ओर से की गई है। एनएसयूआई के कार्यकर्ता इस मांग को लेकर सीएम रमन सिंह के पास पहुंचे थे। कार्यकर्ताओं की ओर से सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि प्रदेश में निजी स्कूलों की मनमानी अपने चरम पर है।

रायगढ़. नए शिक्षण सत्र के शुरू होने के साथ ही निजी स्कूलों की बढ़ती मनमानी पर नकेल कसने की मांग एनएसयूआई की ओर से की गई है। एनएसयूआई के कार्यकर्ता इस मांग को लेकर सीएम रमन सिंह के पास पहुंचे थे। कार्यकर्ताओं की ओर से सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि प्रदेश में निजी स्कूलों की मनमानी अपने चरम पर है। निजी स्कूल अपने मनचाहे दुकान से स्टेशनरी, ड्रेस खरीदी के लिए अभिभावकों पर दबाव बना रहे हैं। इसके अलावा इनकी ओर से बेतहाशा फीस की वृद्धि कर दी गई है।

इस प्रकार की मनमानी जिले में ही नहीं पूरे प्रदेश में देखने को मिल रही है। इसके कारण आम नागरिक को काफी परेशानी हो रही है। ऐसे में एनएसयूआई की ओर से यह मांग की गई है कि इसके लिए एक कमेटी का गठन किया जाए और लोगों को राहत पहुंचाया जाए। वहीं एनएसयूआई की ओर से सौंपे गए ज्ञापन के दूसरे बिंदु में रायगढ़ में यूनिवर्सिटी खोलने की मांग की गई है। जबकि तीसरे बिंदु में युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए कारगर योजना बनाने की बात कही गई है। एनएसयूआई के कार्याकर्ताओं ने कहा कि प्रदेश में 13 वर्षों के दौरान एक लाख 40 हजार बेरोजगारों की सूचि प्रशासन की ओर से जारी की गई है। ऐसे में इन बेरोजगारों को उपलब्ध करवाया जाए।

प्रशासनिक आतंकवाद पर रोक की मांग- एनएसयूआई की ओर से सौंपे गए ज्ञापन में यह कहा गया है कि प्रदेश भर प्रशासनिक आंतकवाद का दौर देखा जा रहा है। ऐसे में आवाज उठाने वाले छात्रों, युवाओं और आमजनों को खासकर विपक्ष व उनके जनप्रतिनिधियों पर फर्जी मामले दर्ज करवाए जा रहे हैं। ऐसे में गलत अधिकारियों पर अंकुश लगाया जाए जिससे प्रजातंत्र के प्रति आम जनों का भरोसा बरकरार रहे।

ये रहे उपस्थित- सीएम को ज्ञापन सौंपने के दौरान एनएसयूआई जिलाअध्यक्ष उस्मान बेग, धीरज राजपूत, कुमार चंदन, मुकेश, राहुुल, दिलेश्वर लहरे, रवि यादव सहित अन्य एनएसयूआई के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???