Patrika Hindi News

98 केंद्रों में हो गई धान की अधिक खरीदी

Updated: IST 98 were in the paddy procurement centers
जिले के 122 धान खरीदी केंद्रों में से 98 धान खरीदी केंद्र में पिछले साल से अधिक धान खरीदी हो गई है।

रायगढ़. जिले के 122 धान खरीदी केंद्रों में से 98 धान खरीदी केंद्र में पिछले साल से अधिक धान खरीदी हो गई है। इसको लेकर समिति के पदाधिकारी और प्रशासन दोनो की चिंता बढ़ गई है।

अब इन समितियों में धान खरीदी को कम करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके कारण समितियों में किसान और पदाधिकारियों के बीच विवाद की स्थिति निर्मित होती जा रही है।

ज्ञात हो कि इस बार शुरू से ही धाान खरीदी को लेकर सख्ती बरती गई है। पिछले साल की तुलना में कम धान खरीदी करने के लिए अथक प्रयास करने के बाद भी इस बार खरीदी अधिक होने की संभावना नजर आ रही है।

इसको देखते हुए अब खरीदी रोकने के लिए प्रयास शुरू कर दिया गया है। हांलाकि अधिकारिक रूप से इसकी कोई पुष्टि नहीं की जा रही है लेकिन समितियों में ऐसी ही स्थितियां नजर आ रही है।

जिले के जिन 98 धान खरीदी केंद्रों में पिछले साल की तुलना में अधिक खरीदी हुई है उसमें कई ऐसे केंद्र भी है जहां 30 से 38 प्रतिशत तक अधिक खरीदी अब तक की स्थिति में हो चुकी है।

जबकि देखा जाए तो जनवरी अंत तक खरीदी करनी है और पंजीकृत किसान भी बचे हुए हैं ऐसी स्थिति में इन केंद्रों में खरीदी का प्रतिशत करीब 40 से 50 प्रतिशत बढ़ जाएगा। यही कारण है कि अब ऐसे समितियां कभी बारदाने का तो कभी और किसी कारण से किसानों को वापस लौटा रही हैं।

किसानों की ने की थी इसकी शिकायत

तेतला में बारदाना की कमी के कारण धान खरीदी नहीं करने से परेशान किसानों ने विधायक उमेश पटेल से शिकायत किया था।

इसीप्रकार खरसिया क्षेत्र के एक अन्य समिति में बारदाना होने के बाद भी खरीदी बंद होने की शिकायत मिली। जिस पर किसानों ने जब समिति से लिखीत में देने की बात कही तो उनका धान खरीद लिया गया।

यहां ऐसे भी बंद हो जाएगी खरीदी

जिले के 21 धान खरीदी केंद्रों में बारदाना खत्म हो गया है। विपणन विभाग अभी तक बारदाना के लिए डिमांड भी नहीं की है। ऐसे में यहां खरीदी प्रभावित होना शुरू हो गया है।

बारदाने के डिमांड को लेकर विभाग और प्रशासन की चुप्पी भी प्रशासन के मंशा की ओर इशारा कर रही है। हांलाकि इस मामले में अधिकारी भी कुछ बता पाने की स्थिति में नहीं है। पर हकीकत कुछ और ही दिख रहा है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???