Patrika Hindi News

आतंकी से मिलते-जुलते शख्स पर फिर घुमी शक की सुई

Updated: IST Needle of suspicion on the man similar to the terr
चलती ट्रेन से फरार होने वाले आतंकी के मामले में जांच टीम को एक बड़ी कामयाबी मिल सकती है। जांच टीम की माने तो आतंकी से मिलते-जुल्ते शख्स के अधिकांश हुलिए व अन्य पहचान मैच कर रहे हैं।

रायगढ़. चलती ट्रेन से फरार होने वाले आतंकी के मामले में जांच टीम को एक बड़ी कामयाबी मिल सकती है। जांच टीम की माने तो आतंकी से मिलते-जुल्ते शख्स के अधिकांश हुलिए व अन्य पहचान मैच कर रहे हैं।

हालांकि जब उक्त संदिब्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ की पहल की जाती। इसके लिए जांच टीम, विशाखापट्नम भी गई थी। उससे पहले संदिग्ध विशाखापट्नम की जेल से जमानत पर छूट चुका था।

जिसकी खोज में जांच टीम लगी हुई है। विदित हो कि अगस्त 2014 में पश्चिम बंगाल के जेल से पेशी के लिए मुंबई कोर्ट ले जाने के दौरान आतंकी अप हावड़ा-मुंबई मेल से फरार हो गया था। जिसका अपराध रायगढ़ जीआरपी में दर्ज है।

अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो रायगढ़ जीआरपी, चलती ट्रेन से फरार होने वाले आतंकी को जल्द ही खोज निकालेगी। जिसकी संभावना जांच टीम को विशाखापट्नम जेल में कुछ दिनों पहले बंद रहे एक शख्स से हुई है।

जिसका नाम, पता के साथ अधिकांश हुलिया भी आतंकी की तरह मिल रहा है। जब इस बात की भनक लगी और जांच टीम, विशाखापट्नम जेल पहुंची तो उससे पहले उक्त संदिग्ध को जमानत मिल चुकी थी

और वो जेल से बाहर आ चुका था। इस बात की पुष्टि रेल एसपी भी कर रही है। रेल एसपी की माने तो विशाखापट्नम के जेल में बंद संदिग्ध को लेकर अब तक जो तथ्य सामने आ रहे हैंं।

वो पूरे मामले को एम नया मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है। जिसकी वजह से संदिग्ध पर एक बार फिर शक की सुई घुम गई है। उसके पकड़े जाने के बाद अधिकांश अनसुलझे सवालों के जवाब मिल सकते हैं। वहीं करीब सवा दो साल से चल रही जांच की दशा व दिशा भी बदल सकती है।

जमानतदार पर टिकी निगाहें

रेल एसपी की माने तो विशाखापट्नम जेल से जमानत पर छूटे संदिग्ध की खोज की जा रही है। इसके साथ ही जमानतदार पर भी पुलिस की नजर है।

हालांकि उक्त संदिग्ध साइबकर क्राइम के मामले में विशाखापट्नम की जेल में बंद था। इसकी वजह से वहां की पुलिस भी ज्यादा जानकारी देने से परहेज कर रही है।

संदिग्ध के विशाखापट्नम के जेल में बंद होने की सूचना मिली

आतंकी से मिलते-जुलता एक संदिग्ध के विशाखापट्नम के जेल में बंद होने की सूचना मिली थी। जिसकी जांच के लिए टीम गई थी।

पर उससे पहले उक्त संदिग्ध जमानत पर छूट गया था। पुलिस की जांच टीम, संदिग्ध के साथ जमानतदार पर भी नजर बनाई हुई है।

पी माथुर, रेल एसपी, रायपुर।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???