Patrika Hindi News

देर रात तक हुई मरम्मत, सुबह मिल सका पानी

Updated: IST There was late night repairs, water could get morn
फिल्टर प्लांट में आए फाल्ट को देर रात तक मरम्मत किया गया। इसके बाद इसमें सुधार हो सका। ऐसे में सुबह पानी की आपूर्ति हुई। इधर पानी आने के करीब आधा दर्जन वार्ड के करीब 30 हजार लोगों ने राहत की सांस ली। इसके अलावा निगम के अधिकारियों को भी बार-बार आ रही शिकायत से मुक्ति मिली।

रायगढ़. फिल्टर प्लांट में आए फाल्ट को देर रात तक मरम्मत किया गया। इसके बाद इसमें सुधार हो सका। ऐसे में सुबह पानी की आपूर्ति हुई। इधर पानी आने के करीब आधा दर्जन वार्ड के करीब 30 हजार लोगों ने राहत की सांस ली। इसके अलावा निगम के अधिकारियों को भी बार-बार आ रही शिकायत से मुक्ति मिली।

बुधवार की सुबह फिल्टर प्लांट में तकनीकी खराबी आ गई थी। इससे चक्रधर नगर व बैकुंठपुर क्षेत्र में पानी की आपूर्ति समय से पहले ही बंद कर दी गई। निगम के द्वारा सुबह साढ़े सात बजे से साढ़े नव बजे तक पानी आपूर्ति किया जाता है, लेकिन इस दिन आधा घंटे बाद ही नलों की टोटियां सूख गई। इससे लोगों को पर्याप्त पानी नहीं मिल सका। इससे लोगों को काफी परेशान होना पड़ा। वहीं पानी नहीं मिलने की शिकायत भी लोग जनप्रतिनिधियों के साथ निगम के अधिकारियों से कर रहे थे। ऐसे में निगम के द्वारा फाल्ट को जल्द दूर करने का प्रयास किया जा रहा था, लेकिन देर शाम तक भी इसमें सुधार नहीं हो सका। ऐसे में फिल्टर प्लांट से शाम के समय भी पानी की आपूर्ति नहीं हो सकी। इस बीच निगम के कर्मचारी फिल्टर प्लांट में आई खराबी को दूर करने के लिए प्रयास करते रहे। वहीं उन्हें देर रात इसमें सफलता मिली। इसके बाद आपूर्ति शुरू की गई। सुबह पानी की आपूर्ति सुचारू रूप से होने पर लोगों ने राहत की सांस ली।

इस संदर्भ में दिनेश शर्मा, जल प्रभारी, एमआईसी ने बताया कि फिल्टर प्लांट में कुछ तकनीकी दिक्कत आ गई थी। इससे पानी आपूर्ति बधित हुई। हालांकि निगम के कर्मचारी लगातार मेहनत करते हुए खराबी को दूर किए। इससे पानी की आपूर्ति गुरुवार की सुबह हो सकी।

कुछ जगहों में बोर पंप का उपयोग- शाम के समय पानी की आपूर्ति नहीं होने की स्थिति को देखते हुए बोर पंप का सहारा लिया गया। निगम के द्वारा जल आवर्धन योजना शुरू करने से पहले पानी की आपूर्ति बोर पंप के माध्यम से की जाती थी। मौजूदा समय में प्रत्येक स्थानों के बोर पंप को नहीं निकाला गया है। जल आवर्धन योजना में पानी आपूर्ति करने में किसी प्रकार की समस्या आने पर बोर पंप का उपयोग किया जाता है। इससे ऐसे क्षेत्रों में ज्यादा परेशानी नहीं होती जहां बोर पंप लगे हैं, लेकिन उन क्षेत्र के लोग परेशान हो जाते हैं, जहां बोर पंप निकाल लिया गया है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???