Patrika Hindi News

शुक्रवार की शाम को करें कुबेर की यह गुप्त पूजा बन जाएंगे करोड़पति

Updated: IST lord of wealth kuber
यदि आपके घर में धन नहीं आ रहा है या फिर धन रुक नहीं पा रहा है तो आपकी यह समस्या धन के देवता कुबेर दूर सकते हैं, लेकिन इसके लिए अपनाएं 5 जरुरी बातें।

रायपुर. शास्त्रों में धन के देवता कुबेर को भगवान शिव का द्वारपाल बताया गया है। वैसे कुबेर रावण के सौतेले भाई हैं किन्तु अपने ब्राह्मण गुणों के कारण ही कुबेर देवता बनाए गए हैं। अब आप लक्ष्मी जी की पूजा तो काफी करते होंगे लेकिन कई बार मात्र लक्ष्मी जी की पूजा से व्यक्ति धन लाभ नहीं हो पाता है। तो ऐसे में व्यक्ति को धन के देवता कुबेर को प्रसन्न करने की कोशिश करनी चाहिए।

आज हम आपको 5 जरुरी बातें बताते हैं जिन्हें अपनाने पर धन के देवता आप पर धन वर्षा कर सकते हैं-

शुक्रवार को कुबेर जी की गुप्त पूजा जरूर करवाएं यह पूजा गुप्त नहीं होती है, लेकिन इस अनुष्ठान के बारे में दूसरे को बताया नहीं जाता है। यह पूजा एक सही पंडित, सही मंत्रों के जाप से कर दे तो कुछ ही महीनों में उस घर को विशेष लाभ प्राप्त हो जाता है।


इस मंत्र का लगातार करें जप

ॐ श्रीं, ॐ ह्रीं श्रीं, ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नम: -

इस मंत्र का जाप विशेषकर शुक्रवार की रात में करें। आप एक 108 मोतियों की माला लें और दिन में दो बार सुबह-शाम 108 बार इन मंत्र का जाप करें। साथ ही मंत्र जप खत्म होते ही एक बार हनुमान चालीसा का पाठ भी करें। आपको धन का लाभ बहुत ही जल्द होने लगेगा।

रात को जलाएं शिव भगवान के सामने दीपक

धन के देवता कुबेर भी शिव के सामने रात को दीपक जलाने से ही धन के देवता बने हैं। इसलिए जो व्यक्ति रात को भगवान शिव के सामने दीपक जलाता है, उस पर कुबेर देवता विशेष ध्यान देते हैं। इसलिए आप लगातार रात के समय शिव भगवान के सामने दीपक जरूर जलाएं।

कुबेर की मूर्ति

घर के अंदर कुबेर देवता की तस्वीर या मूर्ति को लाभदायक माना गया है। यदि आपके घर में धन नहीं आ रहा है या फिर धन रुक नहीं पा रहा है तो आप कुबेर देवता की मूर्ति लाएं और घर में उसको प्राण-प्रतिष्ठा के द्वारा उत्तर दिशा में स्थापित करा लें। आपको लाभ मिलेगा।

घर में जहां धन रखते हैं वहां जरूर स्थापित हों कुबेर देवता

घर में जहां धन रखा जाता है उस जगह पर या फिर तिजोरी में धन के देवता कुबेर का वास जरूर होना चाहिए। कुबेर देवता को कोषाध्यक्ष बताया गया है। पहले मंदिरों के बाहर कुबेर की मूर्तियां जरूर होती थीं, क्योंकि धन की रक्षा कुबेर करते हैं।

तो इस प्रकार से यदि आप इन 5 तरीकों से धन के देवता कुबेर को प्रसन्न कर लेते हैं तो इनकी कृपा से आपके भाग्य का उदय हो सकता है।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???