Patrika Hindi News

> > > > Know the most effective in Vastu Dosh which direction

जानिए किस दिशा में वास्तुदोष है सबसे अधिक प्रभावी, करें ये उपाय

Updated: IST vastu
वास्तु शास्त्र के अनुसार एेसा नहीं करने पर लोगों को तमाम तरह की परेशनियों का सामना करना पड़ता है

पंडित देवनारायण शर्मा/रायपुर. घर की बनावट, उसकी दिशा, घर के सामान, पेड़ पौधे बताते हैं कि घर किस ग्रह के प्रभाव में है। सामान्यत: इन बातों को ध्यान में रख कर नया भूखंड खरीदना या बनवाना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार एेसा नहीं करने पर लोगों को तमाम तरह की परेशनियों का सामना करना पड़ता है। आइये हम आपको बताते हैं वास्तु शास्त्र के कुछ अहम टिप्स जिसे अपनाकर आप इन सभी समस्यों से निजात पा सकते हैं-

अगर आप वास्तु शास्त्र के अनुसार अपना कोई भी निर्माण कार्य करने जा रहे हैं, तो मुख्य प्रवेश द्वार बनाते समय वास्तु शास्त्र के निम्न नियमों का पालन करें।

- अगर आपके भवन या भूखंड के आस पास शमशान घाट है तो यह वास्तु दोष है।

- नये भूखंड लेने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आस पास कोई नकारात्मक उर्जा ना हो।

- अगर घर के आस पास इस तरह का कोई नकारात्मक उजाज़् मौजूद है तो निम्न उपाय करके उसके प्रभाव को कुछ कम कर सकते हैं।

- जिस दिशा में श्मशान घाट है उस दिशा में स्थित मुख्य द्वार को हटाकर दूसरी ओर कर दें।

- नकारात्मक उर्जा की ओर यदि कोई भी खिडख़ी हो तो उसे तुरंत बंद कर दें।

- नकारात्मक उर्जा की दिशा की दीवाल के उपर गहरे रंग से पेंट करें।

- शमशान घाट की ओर हमेशा तेज बल्ब लगाकर रोशनी करें

- शमशान घाट की ओर यदि कुछ जगह खाली है तो भूखंड के अंदर और बाहर की ओर बड़े- बड़े पेड़-पौधे लगाकर घर और उस उर्जा के बीच एक अवरोध खड़ा कर दें।

- अपने पोर्च लाइट को हमेशा जलाकर रखें।

-अपने मुख्य द्वार को गहरे रंग से रंग दें।

- घर के अंदर सूयज़् का प्रकाश समुचित रूप से आये इसकी पूरी व्यवस्था करें।

- अपने गाडज़्न की लाईट को हमेशा जलाकर रखें।

- अपनी बाऊन्ड्री वाल को गहरे रंग से रंग दें।

- अपने छत के उपर लाल रंग की टाईल्स लगायें।

- गार्डन के अंदर बोल्डर पत्थर का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें।

-और अगर आप इसमें से कुछ भी नहीं कर पा रहे हैं तो फिर उस मकान को बेच कर किसी अच्छे वास्तु में चले जाएं।

मोबाइल नंबर
91 94252 07282

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे