Patrika Hindi News

राष्ट्रपति चुनाव: CM रमन सहित सीजी के इन बड़े नेताओं ने की वोटिंग

Updated: IST Presidential Election 2017
देश का 14वां राष्ट्रपति चुनने के लिए वोटिंग संपन्न हुई। कुल 99 फीसदी वोटिंग हुई। छत्तीसगढ़ के विधायकों में भी मतदान का उत्साह दिखा।

नई दिल्ली/रायपुर. देश का 14वां राष्ट्रपति चुनने के लिए सोमवार को वोटिंग संपन्न हुई। कुल 99 फीसदी वोटिंग हुई। छत्तीसगढ़ के विधायकों में भी मतदान का उत्साह दिखा। सुबह 10 बजे मतदान शुरू होते ही लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत ने पहला वोट डाला। सुबह के 11 बजते-बजते 90 विधायकों में से 81 ने मतदान कर लिया था। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव सहित लगभग सभी प्रमुख विधायकों को वोट दोपहर तक पड़ चुका था। कांग्रेस से निष्कासित विधायक अमित जोगी ने 3 बजे के बाद मतदान किया।

राष्ट्रपति चुनाव में तीन राज्यों में क्रॉस वोटिंग, नतीजे 20 को

देश का 14वां राष्ट्रपति चुनने के लिए सोमवार को वोटिंग संपन्न हुई। कुल 99 फीसदी वोटिंग हुई। पहला वोट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डाला। देश के 3 राज्यों त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश और गुजरात में क्रॉस वोटिंग भी हुई। नतीजे 20 जुलाई को आएंगे। माना जा रहा क्रॉस वोटिंग के जरिए भाजपा कोविंद की जीत को ऐतिहासिक बनाना चाहती है।

पार्टी चाहती है कि पिछले राष्ट्रपति चुनाव के मुकाबले इस बार कोविंद के समर्थन में रिकॉर्ड 70 फीसदी तक वोट पड़ें। सोमवार को हुए मतदान में त्रिपुरा में टीएमसी के 6 और कांग्रेस के 1 विधायक ने एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट दिया। उत्तर प्रदेश में सपा विधायक शिवपाल यादव का दावा है कि उन्हें मिलाकर उनकी पार्टी के 22 विधायकों ने कोविंद को वोट दिया है। हालांकि, सपा ने आधिकारिक तौर पर यूपीए प्रत्याशी मीरा कुमार का समर्थन करने का ऐलान किया था। गुजरात में धारी विधान सभा के भाजपा विधायक नलि कोटाडिया ने मीरा कुमार के पक्ष में वोट डाला है।

माना जा रहा है कि 403 सदस्यों वाली यूपी विधानसभा में रामनाथ कोविंद के पक्ष में 360 विधायकों ने मतदान किया है। उल्लेखनीय है कि 63 फीसदी वोटों के साथ कोविंद की जीत तय मानी जा रही है। वोटों की गिनती 20 जुलाई को होगी।

सत्र की शुरुआत से पहले जीएसटी मंत्र

सत्र की शुरुआत से पहले मोदी ने जीएसटी का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि जीएसटी का मतलब है 'गोइंग स्ट्रॉन्गर टुगेदर' इसलिए संसद में सभी दल एकजुटता दिखाएं।

प्रणब का 69 फीसदी आंकड़ा पार करने की मंशा

को विंद की जीत तो तय मानी जा रही है, लेकिन भाजपा इसे ऐतिहासिक जीत में तब्दील होते देखना चाहती है। इसके लिए उसकी नजरें विरोधी दलों के विधायकों-सांसदों की क्रॉस वोटिंग पर हैं। पार्टी मान रही है, इस क्रॉस वोटिंग की बदौलत 20 जुलाई को आने वाले इस चुनाव के नतीजे की तस्वीर बदल सकती है। 2012 के चुनाव में वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 69 फीसदी वोट हासिल कर चुनाव जीता था। प्रणब ने तब पीए संगमा को हराया था। भाजपा के निशाने पर इस बार 69 फीसदी का यह आंकड़ा है, ताकि 70 फीसदी वोट हासिल हो सके।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???