Patrika Hindi News

> > > > raipur: Know Why 23 September only Belans of hen eggs

जानिए क्यों 23 सितंबर को ही मुर्गी के अंडे को कर सकते हैं बेलैंस

Updated: IST hen
जानकर आपको आश्चर्य होगा पर यह सच है कि सिर्फ 23 सितंबर को ही मुर्गी के अंडें को सीधा खड़ा कर सकते हैं

रायपुर. जानकर आपको आश्चर्य होगा पर यह सच है कि सिर्फ 23 सितंबर को ही मुर्गी के अंडें को सीधा खड़ा कर सकते हैं। और यही नहीं यह भी सत्य है कि आज ही दिन और रात बराबर हो जाते हैं। धरती की इस खगोलीय गतिविधि को देखने के लिए दुनिया भर में उत्सुकता रहती है लेकिन एक और बात जो चर्चा में रहती है।

क्या आप वास्तव में अंडा बैलेंस कर सकते हैं?

बहुत से लोगों का दावा है कि इक्वीनॉक्स यानी आज ही के दिन जब दिन और रात बराबर होते हैं तो अंडे को बैलेंस किया जा सकता है, इसका मुख्य कारण है गुरुत्वाकर्षण खिंचाव। लेकिन हकीकत यही है कि आज साल के किसी दिन और किसी भी वक्त अंडे को बैलेंस कर सकते हैं बस इसके लिए आपको अच्छी प्रैक्टिस करनी होगी।

जानिए क्या है इक्विनॉक्स

धरती पर ऐसा समय या बिंदु जब दिन और रात लगभग बराबर हो जाते हैं, इसको इक्विनॉक्स कहा जाता है। इसका शब्दिक अर्थ होता है - समान। धरती अपनी धुरी पर झुके हुए सूर्य के चक्कर लगाती है, इस प्रकार वर्ष में एक बार धरती इस स्थिति में होती है, जब वह सूर्य की ओर झुकी रहती है, व एक बार सूर्य से दूसरी ओर झुकी रहती है।

आज धरती मां सूर्य देव के आगे नहीं झुकेंगी

साल में दो बार ही ऐसी स्थिति होती है, जब धरती का झुकाव न सूर्य की ओर ही होता है और न ही सूर्य से दूसरी ओर, बल्कि बीच में होता है। इस स्थिति को विषुव या इक्विनॉक्स कहा जाता है। इन दोनों तिथियों पर दिन और रात की बराबर लंबाई लगभग बराबर होती है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे