Patrika Hindi News

फलों का राजा आम हुआ खतरनाक, पक रहा चीन के केमिकल से

Updated: IST Mango
मांग बढ़ते ही कच्चे आम को तेजी से पकाने के लिए शहर के फल व्यापारियों ने सेहत के लिए घातक केमिकल और पाउडर का उपयोग शुरू कर दिया है...

रायपुर. मांग बढ़ते ही कच्चे आम को तेजी से पकाने के लिए शहर के फल व्यापारियों ने सेहत के लिए घातक केमिकल और पाउडर का उपयोग शुरू कर दिया है। आम के साथ ही अन्य फलों को पकाने के लिए प्रतिबंधित पदार्थों का उपयोग हो रहा है। गुरुवार को शहर की थोक मंडी में पत्रिका की पड़ताल में चौंकाने वाली सच्चाई सामने आई। थोक व्यापारी चीन से आयातित खतरनाक पाउडर एथलीन राइपनर से आम और अन्य फल पका रहे हैं। इसके पैकेट पर साफ चेतावनी अंकित है कि खाद्य पदार्थ के साथ पाउडर के संपर्क में आने पर इंसानी स्वास्थ्य पर जानलेवा असर डाल सकता है।

फल व्यवसाय से जुडे़ सूत्रों का कहना है कि एथलीन राइपनर पाउडर खुले बजार में नहीं मिलता। इसे चोरी छिपे चाइना से आयात किया जाता है। यह फल व्यापसाय से जुडे़ बड़े व्यापारी ही मंगा रहे हैं। इसके लिए एजेंट हैं, जो फल व्यवसायियों को यह उपलब्ध करा रहे हैं।

पत्रिका ने पकड़ा व्यापारियों का झूठ

पत्रिका टीम ने लालपुर थोक फल मंडी के व्यापारियों से पूछा कि आम और केला पकाने के लिए केमिकल का उपयोग हो रहा है या नहीं, तो उनका कहना था कि वे सिर्फ पके फल ही मंगाते हैं। टीम ने व्यापारियों के दावे की मौके पर पड़ताल की तो केले और आम कच्चे ही ट्रकोंं से उतारे जा रहे थे। टीम ने गोदाम जाकर पूरा माजरा देखने का प्रयास किया तो व्यापारियों ने रोक दिया। लेकिन दुकान के बाहर फैले कार्बाइड पाउडर ने व्यापारियों की पोल खोल दी।

तीन तरह के केमिकल-पाउडर

फल पकाने के लिए एथलीन, कार्बाइड और इथ्रेल-39 नामक रसायन व पाउडर का उपयोग कर रहे हैं। कार्बाइड के अलग-अलग पाउच आम के बीच में रख कर पकाया जा रहा है। कुछ व्यवसायी इथ्रेल-39 के घोल में फलों को डुबाकर पका रहे हैं। डॉक्टरों के मुताबिक कार्बाइड और इथ्रेल से कैंसर हो सकता है। पानी के संपर्क में आते ही दोनों एथिलीन गैस रिलीज करती है, जिससे फल समय से पहले पक जाते हैं। जो कि मानव शरीर के लिए बेहद नुकसानदायक हैं।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???