Patrika Hindi News

इस होटल में हुई थी दिल दहला देने वाली घटना, जिंदा जल गए थे 5 लोग

Updated: IST hotel tulsi agnikand
बंजारी मंदिर रोड स्थित होटल तुलसी में अप्रैल में भीषण अग्निकांड हुआ था। इस हादसे में दीगर शहरों के पांच व्यापारियों की जलकर मौत हो गई थी।

रायपुर. नगर निगम और जिला प्रशासन द्वारा घोषित जर्जर होटल तुलसी को तोडऩे का आदेश देने के बावजूद उसके मालिक पर कोई असर नहीं हुआ है। निगम द्वारा जर्जर होटल भवन को हटाने का नोटिस जारी करने की मियाद खत्म भी हो गई, फिर भी जर्जर होटल ज्यों की त्यों स्थिति में है। नोटिस की मियाद खत्म होने के बाद अब निगम के जोन सात ने होटल को तोडऩे की अनुमति के लिए निगम आयुक्त रजत बंसल को फाइल भेजी है।

Read More : दर्दनाक था वो मंजर जब जान बचाने कोई बालकनी से कूदा, तो कोई बिल्डिंग में घुसा

आयुक्त से अनुमति मिलने के बाद जोन सात के अमले द्वारा अगले हफ्ते बुलडोजर चलाया जाएगा। निगम प्रशासन ने आगजनी में जर्जर हुए होटल तुलसी और मनीष सेल्स के जर्जर हिस्से को खुद से हटाने के लिए उनके मालिकों को नोटिस जारी किया था। इसके लिए सात दिन की मोहलत भी दी गई थी। मनीष सेल्स के मालिक ने निगम के आदेश का पालन करते हुए जर्जर हिस्से को हटाना शुरू कर दिया है। लेकिन होटल तुलसी के मालिक ने अभी तक कोई कार्रवाई शुरू नहीं की।

Read More: वीडियो हुआ वायरल इस तरह धूं-धूंकर जल गई थी होटल, 5 लोग जिंदा जले

गौरतलब है कि बंजारी मंदिर रोड स्थित होटल तुलसी में अप्रैल में भीषण अग्निकांड हुआ था। इस हादसे में दीगर शहरों के पांच व्यापारियों की जलकर मौत हो गई थी। इसके बाद जिला प्रशास ने होटल तुलसी को जर्जर घोषित कर दिया था। इसके बाद होटल मालिक व अन्य व्यापारी जिनकी दुकान होटल के नीचे ग्राउंड फ्लोर पर संचालित है, वे लोग हाईकोर्ट गए थे। हाईकोर्ट ने निगम प्रशासन को जर्जर होटल को तोडऩे का आदेश दिया था।

Read More: CCTV से पुलिस को मिला सुराग, होटल तुलसी अग्निकांड का आरोपी गिरफ्तार

नगर निगम जोन सात के जोन कमिश्नर संतोष पांडेय ने कहा कि होटल तुलसी को तोडऩे की अनुमति के लिए आयुक्त को फाइल भेजी गई है। आयुक्त फिलहाल शहर से बाहर है। चार-पांच दिनों में होटल को तोडऩे की अनुमति मिल जाएगी। अगले हफ्ते हर हाल मे जर्जर होटल तुलसी को तोड़ा जाएगा।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???