Patrika Hindi News

ग्राहक बनकर आए युवकों ने दिखाई हाथ की सफाई, ज्वेलरी शॉप से उड़ाए 1.5 लाख के गहने

Updated: IST thieft in jewellery shop
वर खरीदने के बहाने दुकान में पहुंचे और सोने के जेवर देखने लगे। इसी बीच जेवर का एक डब्बा चुरा लिया फिर जेवर पसंद न आने बहाना बनाकर दुकान से निकल गए

रायपुर. पुरानी बस्ती इलाके मेंयोगी ज्वेलर्स से ग्राहक बनकर दो लोगों ने सोने के जेवर पार कर दिए। दोनों आरोपी सोने के जेवर खरीदने के बहाने दुकान में पहुंचे और सोने के जेवर देखने लगे। इसी बीच जेवर का एक डब्बा चुरा लिया फिर जेवर पसंद न आने बहाना बनाकर दुकान से निकल गए। बहरहाल पुलिस दुकान संचालक की सूचना पर अपराध दर्ज कर कर्रवाई कर रही है।

ग्राहक के जाने के बाद नहीं मिला डब्बा
दुकानदार ने दिखाने के लिए निकाले डिब्बों को समेटा तो समझ आया कि डेढ़ लाख कीमत के सोने के जेवर का एक डब्बा गायब है। इसके बाद उन्होंने दुकान में लगे सीसीटीवी की पड़ताल की तो पता चला कि ग्राहक बनकर आए दो लोगों ने डब्बे को चुराया है। इसके बाद आजाद चौक निवासी योगी ज्वेलर्स के मालिक मोहित पिता कमलचंद्र ने पुलिस को शिकायत की है। पुलिस दुकान के सीसीटीवी के आधार पर दोनों की पहचान करने में लगी है।

चुराए ये गहने
चोरों ने जो डब्बा चुराया,उसमें कान के 10 टॉप्स,एक अगंूठी रखी थी। ज्वेलर्स ने अपनी शिकायत में इनकी कीमत 1 लाख 45 हजार रुपए लिखाई है।

पहले भी हो चुकीं है एेसी वारदात
राजधानी के सराफा बाजार में इस पैटर्न पर पहले भी ज्वेलर्स के यहां चोरी की घटनाएं हुईं है। कुछ माह पहले चार महिलाओं का एक गिरोह सराफा दुकान में आया और कान की बाली खरीदने के नाम पर ज्वेलरी देखने लगी। दुकानदार डिब्बों में रखी कान की बाली दिखाने लगा। नई डिजाइन दिखाने का बोलकर उन्होंने कई डिब्बे निकलवा लिए। इसी बीच एक महिला ने जेवर का एक डिब्बा अपने कपड़ों में छिपा लिया। शाम को जब ज्वेलर्स ने दुकान के स्टॉक की जांच की तो पता चला कि कुछ जेवर गायब है। तब दुकान के सीसीटीवी फुटेज चेक किया गया .तो पता चला कि महिलाओं ने किस तरीके से दुकानदार को जेवर दिखाने में व्यस्त रखा और इसी बीच एक महिला ने जेवर चुरा लिए। मकसद में कामयाब होने के बाद महिलाओं ने डिजाइन पसंद न आने के बहाने दुकान से बाहर निकल गईं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???