Patrika Hindi News

CG के वन मंत्री को अमेरिका ने वीजा देने से किया इनकार, US ट्रिप खटाई में!

Updated: IST mahesh gagda
वन मंत्री महेश गागड़ा को अमेरिका ने वीजा देने से इंकार कर दिया है। वन मंत्री प्रतिनिधिमंडल के साथ अमेरिका और तंजानिया के दौरे पर जाने वाले थे।

रायपुर.वन मंत्री महेश गागड़ा को अमेरिका ने वीजा देने से इंकार कर दिया है। हैदराबाद स्थित काउंसलेट जनरल ने गागड़ा के वीजा के अर्जी को खारिज करते हुए कहा कि उन्हें वीजा नहीं दिया जा सकता। वन मंत्री 30 नवंबर को वीजा के सिलसिले में हैदराबाद गए थे। वहीं, रायपुर के सीसीएफ अरुण पाण्डेय का वीजा क्लियर हो गया है। वन मंत्री प्रतिनिधिमंडल के साथ 16 दिसंबर से अमेरिका और तंजानिया के दौरे पर जाने वाले थे। उनकी पूरी तैयारी हो गई थी। लेकिन, वीजा की उनकी अर्जी ही खारिज हो गई।

वन विभाग के अफसरों का कहना है कि वीजा के लिए फिर से आवेदन कर दिया गया है। लेकिन जानकारों के अनुसार वीजा का आवेदन एक बार निरस्त होने के बाद दोबारा मुश्किल हो जाता है। गागड़ा के साथ प्रमुख सचिव वन आरपी मंडल, एडिशनल पीसीसीएफ मुदित कुमार, रायपुर सीसीएफ अरुण पाण्डेय, जगदलपुर सीसीएफ तपेझ झा अमेरिका और तंजानिया जाने वाले थे। मंत्री को वीजा न मिलने से अब अफसरों का विदेश प्रवास भी खटाई में पड़ सकता है।

छत्तीसगढ़ में विदेशी निवेश बढ़ाने के उद्देश्य सेइन दिनों कोसूबे के मुखिया मुख्यमंत्री रमन सिंह अमेरिका दौरे पर हैं। मुख्यमंत्री ने अमेरिका प्रवास के दौरान न्यूयार्क में हुई छत्तीसगढ़ निवेश संगोष्ठी में निवेशकों को बस्तर में हुए विकास कार्यों और भय मुक्त व्यापार का जिक्र करते हुए छत्तीसगढ़ में उद्योग लगाने के लिए प्रोत्साहित किया।

इसके अलावा छत्तीसगढ़ में मेन्यूफेक्चरिंग के विभिन्न क्षेत्रों में निवेश को प्रोत्साहित करने मुख्यमंत्री न्यूयार्क में प्रवासी भारतीयों और विभिन्न निवेशकों के 10 सदस्यी प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने मेक इन छत्तीसगढ़ अभियान और उद्योग नीति की जानकारी देते हुए निवेशकों को यहां उद्योग लगाने के फायदें गिनाएं और निवेश के लिए आमंत्रित किया।

रमन सिंह ने कहा, नक्सलवाद प्रभावित क्षेत्र में तेजी से शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क और संचार नेटवर्क का काम हो रहा है। केंद्र और राज्य सरकार ने मिलकर नक्सल समस्या पर बहुत हद तक नियंत्रण कर लिया है। अब लोग भय मुक्त होकर व्यापार कर रहे हैं। यहां सूचना प्रौद्योगिकी, प्रतिरक्षा, खाद्य प्रसंस्करण, सौर ऊर्जा, जैव प्रौद्योगिकी जैसे नानकोर सेक्टर के उद्योगों के लिए व्यापक अवसर और संभावनाएं हैं।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???