Patrika Hindi News

अंदर प्रशासन को मिली 100 और बाहर भाजपा को मिली 200 शिकायतें

Updated: IST MP hearing
गंजबासौदा. पिछले कई सालों से तहसील में जनसुनवाई का सिलसिला चल रहा है। हर मंगलवार को होने वाली जनसुनवाई में एसडीएम समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहते हैं और यहां पर आने वाली शिकायतों का निराकरण करते हैं।

गंजबासौदा. पिछले कई सालों से तहसील में जनसुनवाई का सिलसिला चल रहा है। हर मंगलवार को होने वाली जनसुनवाई में एसडीएम समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहते हैं और यहां पर आने वाली शिकायतों का निराकरण करते हैं।

मंगलवार को तहसील में हुई जनसुनवाई और अलग तरीके की नजर आई। जहां एसडीएम तृप्ती श्रीवास्तव सभाकक्ष में जनसुनवाई कर रहीं थीं। यहां पर करीब 100 आवेदन विभिन्न समस्याओं से संबंधित आए जिनमें से 80 प्रतिशत आवेदन मुआवजा, पेंशन और राशनकार्ड से संबंधित थे तो वहीं भाजपा के पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने तहसील के परिसर में ही जनसुनवाई करने के लिए काउंटर लगाया था। यहां पर भाजपा के मुताबिक 200 से ज्यादा शिकायतें मिली हैं हालांकि जो शिकायतें भाजपा के काउंटर पर पहुंची। उन शिकायतों को भी एसडीएम कार्यालय में एसडीएम को सौंप दी हैं। ताकि शिकायतों का समाधान हो सके। बताया जाता है कि कुछ माह पहले जमकर जो बारिश बारिश हुई थी उससे काफी लोगों को नुकसान हुआ था।

इसका सर्वे कराया लेकिन मुआवजा नहीं मिला है। जो अधिकांश शिकायतें आई उनमें से सबसे ज्यादा मुआवजा से संबंधित हैं इसके अलावा बीपीएल सूची से नाम काटने और राशनकार्ड से संबंधित भी बड़ी संख्या में शिकायतें आई हैं तीसरे पायदान पर बिजली कंपनी की शिकायतें रहीं। यहां पर अधिक राशि के बिल, आंकलित खपत के आधार पर बिल जारी करना व रीडिंग न लेने और समय पर बिल न मिलने से संबंधित शिकायतें भी आई हैं इन शिकायतों से संबंधित तमाम आवेदन भाजपा पदाधिकारियों ने ले लिए हैं और इनका पंचनामा बनाकर एसडीएम कार्यालय में जमा करा दिया है इस मामले में भाजपा के नगर मंडल अध्यक्ष राजेश शर्मा का कहना है कि जनसुनवाई में 200 शिकायतें मिली हैं इन शिकायती आवेदनों की सूची तैयार की है और निराकरण के लिए एसडीएम को भेजा गया है और 15 दिन के बाद पता लगाया जाएगा कि कितनी शिकायतों का समाधान हुआ है और कितनी का नहीं।

वहीं एसडीएम तृप्ती श्रीवास्तव का कहना है कि करीब 100 के आसपास शिकायतें आई हैं जिनमें से अधिकांश मुआवजा और पेंशन से संबंधित हैं और कुछ शिकायतों विभागों से संबंधित हैं उनका मौके पर निराकरण कर दिया गया है। वार्ड 6 के रहने वाले नागरिकों ने जनसुनवाई में ज्ञापन देते हुए कहा है कि बारिश के दौरान वार्ड में पानी भर गया था जिससे गृहस्थी का सामान बर्बाद हो गया था। सर्वे भी हो गया लेकिन अभी तक मुआवजा नहीं मिला है। वार्ड के रहने वाले कमरसिंह पुत्र भुजबल दांगी ने कहा है कि जल्द से जल्द मुआवजा उपलब्ध कराया जाए। इसी तरह जमीन के नामांतरण और सीमांकन की भी कई शिकायतें जनसुनवाई में आई।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???