Patrika Hindi News

> > > > "Congress will open the layers of corruption in PHE

'पीएचई के भ्रष्टाचार की परतें खोलेगी कांग्रेस

Updated: IST Raisen
रायसेन. लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग में भ्रष्टाचार और जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा बिना भू-जल जांच के दस नलकूपों के खनन के मामले को लेकर युवा कांग्रेस शनिवार को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपगी।

रायसेन. लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग में भ्रष्टाचार और जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा बिना भू-जल जांच के दस नलकूपों के खनन के मामले को लेकर युवा कांग्रेस शनिवार को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपगी। युवा कांग्रेस अध्यक्ष संदीप मालवीय ने बताया कि पीएचई के अधिकारियों द्वारा किए जा रहे भ्रष्टाचार की पोल खोलने के लिए युवा कांग्रेस सड़कों पर उतरेगी।

उल्लेखनीय है कि मार्च 2016 में सांची विकास खंड के कुछ गांवों में नल-जल योजना के लिए दस नलकूपों का खनन पीएचई द्वारा कराया गया था। जो विशेषज्ञ से जांच कराए बगैर कराए गए। इनमें से आधे नलकूप पूरी तरह फेल हो रहे, तो दो में बहुत कम और दो में कम पानी निकला। जबकि मात्र एक नलकूप में ही नल-जल योजना के लायक पानी निकला। इस तरह पीएचई के अधिकारियों इंजीनियर सुरेश साहू और ईई सुबोध जैन ने शासन को लाखों रुपए का चूना लगाया। यह मामला सिरोंज विधायक गोवर्धन उपाध्याय ने विधानसभा में भी उठाया था। साथ ही विदिशा के भू-जलविद यशोवर्धन शर्मा ने भी पीएचई के मुख्य सचिव सहित अन्य अधिकारियों को तमाम तथ्यों के साथ शिकायत कर जांच की मांग की थी। लेकिन अभी तक इस मामले में कोई जांच नहीं की गई है। शिकायत की जानकारी मिलने पर बीते दिनो पीएचई के अधिकारियों ने उक्त नलकूपों में अनावश्यक मोटर डालने के साथ कुछ को बंद कर दिया था। ग्रामीणों ने फेल नलकूपों में मोटर डालने से अधिकारियों को रोका था। यह सब प्रशासन और विभाग के अधिकारियों की जानकारी में होने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होना संदेहों को जन्म देती है।

यहां किए थे नलकूप खनन

पीएचई द्वारा सांची विकासखंड के ग्राम सेहतगंज, खंडेरा में दो, टिकोदा, सांचेत, ढकना-चपना, मुंगालिया, कानपोहरा, नरवर और पैमत में ,एक-एक नलकूप खनन कराए गए थे। इनमें से मात्र पैमत का नलकूप नल-जल योजना के लिए उपयोगी साबित हुआ है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे