Patrika Hindi News

 नील गाय का शिकार, दो शिकारी पकड़े, एक फरार

Updated: IST
खतरे में वन्यजीव

रायसेन. बुधवार की रात जिले की चिलवाहा रेंज के अंतर्गत जंगल में करंट लगाकर नीलगाय का शिकार किया गया। मुखबिर से सूचना मिलने पर हरकत में आए वन अमले ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं एक आरोपी भागने में सफल हो गया। जानकारी के अनुसार एसडीओ राजीव श्रीवास्तव ने शिकारियों को पकडऩे के लिए अमले की टीम का गठन कर रवाना किया। वन अमले ने चिलवाह रेंज के अंतर्गत आने वाली भूसीमेटा बीट पर मादा नील गाय का शिकार करने वाले आरोपी कैलाश पिता भद्दू, भंवरलाल पिता दयाराम आदिवासी को नील गाय के जबड़ा और खून से लथपथ बोरी और शिकार के लिए उपयोग किया गया करंट का तार बरामद कर लिया। वहीं मौके से एक अन्य आरोपी चरण सिंह फरार हो गया। वन अमले की टीम उसकी तलाश कर रही है। वन अमले ने शिकारियों के खिलाफ वन प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध करते हुए न्यायालय में शिकारियों को पेश किया। इस कार्रवाई में चिलवाह रेंजर केआर उइके, डिप्टी रेंजर भूसीमेटा शिवलाल कौशल, डिप्टी रेंजर लियाकत खान, बीट गार्ड विक्रम खत्री, वनरक्षक माखन साहू, सतीश खत्री, भगवत गौर की अहम भूमिका रही। गौरतलब है कि क्षेत्र में शिकार की वारदातें तेजी से बढ़ी हैं।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???